16 साल की नाबालिग की सात पुरुषों से कराई शादी, आईएस की क्रूरता

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। सीरिया में इस्लामिक स्टेट के आतंक और उसकी ओर से की जाने वाली क्रूरता किसी से छिपी नहीं है। रह रह कर वहां से ऐसी खबरें आती हैं जो दिल दहलाने के लिए काफी होती हैं।

ISLAMIC STATE

ISIS के लोग महिलाओं को सेक्स गुलाम बनाने के लिए भी कुख्यात हैं। महिलाओं से उनकी दरिंदगी किसी से छिपी नहीं है।

पति के हाथ लगी एयरहोस्टेस की सेक्स डायरी, खुले विमान के अंदर के कई राज

उत्तरी इराक के दोहूक प्रान्त में रहने वाली फरीदा ने बताया कि उनकी बहन 16 साल की है। उससे ISIS के दरिंदों ने 7 लोगों की शादी कराई। वो अभी भी सीरिया में है।

पुरूष कर रहा था 4 महिलाओं का बलात्कार

उन्होंने बताया कि मैंने देखा है कि एक पुरुष 4 महिलाओं का बलात्कार कर रहा था। फरीदा ने बताया कि ISIS के दरिंदों ने एक बच्चे को उसकी मां से अलग कर दिया जब वो दूध पी रहा था।

भारतीय रेल में बेहतर हुई सुविधा, ऑर्डर करते ही मिनटों में सीट पर खाना

उन्होंने यह भी बताया कि वहां एक पुरुष मुझसे शादी करेगा, उसके बाद उसका कोई दोस्त मुझे देखेगा और मुझे पसंद करेगा। फिर वो मुझसे शादी करेगा। मैं खुद पांच लोगों को बेची गई हूं।'

फरीदा ने बताया कि उनके पांच भाईयों को इस्लामिक स्टेट के लोगों ने मार डाला। उनकी मौत से वो अब भी परेशान हैं।

फरीदा ने बताया कि उनके पति अभी भी जिंदा है लेकिन 100 साल बाद भी वो अपने परिवार और भाईयों का दुःख नहीं भूल पाएंगी।

उन्होंने कहा कि मैं हमेशा रोती हूं और दुखी रहती हूं। मैं अपने पति का चेहरा कैसे देखूं। मैं उन्हें कभी खुश नहीं रख सकती।

वो इस्लाम की ही सांस लेते हैं...

फरीदा से पूछा गया कि अगर उनसे अब किसी ISIS के सदस्य से कुछ कहने के लिए कहा जाए तो वो क्या कहेंगी? इस पर फरीदा ने कहा कि मुझे उनसे कुछ नहीं कहना है।

देखिए दिल को छू जाने वाली तस्‍वीरें, सिटी ऑफ ज्‍वॉय में जब महिलाओं ने सिंदूर खेला

फरीदा ने कहा कि अगर आप उन्हें मेरे सामने लाएंगे और उन्हें उत्पीड़ित करेंगे, उन्हें सलाद की तरह टुकड़ो में काट डालेंगे तो मैं कुछ नहीं कहूंगी। क्योंकि मेरा दिल बिल्कुल टूट चुका है। मेरी जिन्दगी फिर कभी लौट कर नहीं आएगी, इसलिए कोई फर्क नहीं पड़ता कि मैं क्या कहूं।'

फरीदा ने बताया कि वो ये काम बिल्कुल स्वतंत्र रूप से और दिल से करते हैं। वो इस्लाम की ही सांस लेते हैं, खाते और सोते हैं। इसी वजह से वो सनकी हैं।

फरीदा ने बताया यह पागलपन है, इतना ही नहीं उनके बच्चे भी उसी तरह के होंगे। मैंने उनमें से किसी एक को भी ऐसा नहीं देखा जो उस मानसिकता का न हो।

चीन के मुसलमान बच्चों को नहीं पहना सकेंगे धार्मिक ड्रेस, धार्मिक शिक्षा भी बैन

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Women taught about brutality of islamic state fighters.
Please Wait while comments are loading...