सऊदी अरब खरीदेगा 8000 करोड़ के टैंक और सैन्य उपकरण, अमेरिकी सीनेट ने दी मंजूरी

Subscribe to Oneindia Hindi

वाशिंगटन। अमेरिकी सीनेट ने अमेरिकी सरकार के उस प्रस्‍ताव को मंजूरी दे दी है जिसके तहत सऊदी अरब को 8000 करोड़ रुपए से ज्यादा के टैंक और अन्य सैन्य उपकरण बेचे जाने थे। अमेरिकी सीनेट में इस प्रस्ताव के पक्ष में 71 वोट पड़े और इस प्रस्ताव को रोकने के लिए 27 वोट पड़े।

abramas

अमेरिकी सरकार के इस प्रस्ताव पर रिपब्लिकन सीनेटर रैंड पॉल और डेमोक्रेटिक पॉर्टी के सीनेटर क्रिस मर्फी ने रोक लगाने की मांग की। उन्होंने हवाला दिया कि पिछले 18 महीनों से यमन युद्ध झेल रहा है। अमेरिका अगर अरब को हथियारों को बिक्री करेगा तो इस क्षेत्र में हथियारों की होड़ बढ़ने लगेगी।

युद्ध की आशंका के बीच पाकिस्तान के लड़ाकू विमानों ने भरी उड़ान

इससे पहले पेंटागन ने 9 अगस्त को सऊदी अरब को 130 अब्रामस बैटल टैंक्‍स और 20 ऑर्मोड रिकवरी व्‍हीकल और अन्‍य सैन्‍य उपकरण बेचने की घोषण की थी।

डिफेंस सिक्‍योरिटी कोऑपरेशन एजेंसी ने बताया कि जनरल डायनमिक्‍स कॉर्प इन हथियारों को सऊदी अरब को बेचेगाा

पॉल, मर्फी के अलावा अन्य विरोधियों ने इस डील के साथ-साथ सऊदी अरब सरकार की आलोचना की। उन्‍होंने सऊदी अरब की तरफ से यमन के खिलाफ युद्ध को लेकर आलोचना की है। साथ ही कहा कि सऊदी अरब का रिकॉर्ड है कि इस्‍लााम की कट्टटरपंथी विचारधारा को बढ़ावा देने वाला बताया है।

पढ़ें: UNGA में भारत के खिलाफ नवाज शरीफ के 10 कड़वे बोल

सीनेटर मर्फी ने कहा कि अगर आप कट्टरवाद को पूरी दुनिया में फैलने से रोकना चाहते हैं तो आपको सऊदी अरब में जिस तरह से इस्‍लाम की ब्रांडिग की जा रही है उसको भी रोकना होगाा यह भी कट्टरवाद का एक हिस्‍सा है।

पढ़ें: उरी आतंकी हमले का बदला, एलओसी क्रॉस कर सेना ने मारे 20 आतंकी?

आपको बताते चलें कि सऊदी अरब और यमन के बीच छिड़े युद्ध में अ​ब तक 10,000 से ज्यादा लोगों की मौतें हो चुकी हैं। साथ ही 30 लाख से ज्यादा लोग विस्थापित हो चुके हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
US Senate cleared way for sale of tanks and military equipment to Saudi Arabia
Please Wait while comments are loading...