अमेरिका और भारत हिंद महासागर पर रख रहे चीन पर नजर!

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

वाशिंगटन। अमेरिका और भारत दोनों साउथ एशिया में चीन के वर्चस्‍व को कम करने के लिए साथ मिलकर काम कर रहे हैं। बुधवार को यूएस नेवी के पैसिफिक कमांड के कमांडर एडमिरल हैरी बी हैरिस ने एक इंटरव्‍यू में बताया कि इंडियन और यूएस नेवी दोनों हिंद महासागर में चीन की पनडुब्बियों और चीनी जहाजों के मूवमेंट से जुड़ी हर जानकारी साझा कर रहे हैं। उन्‍होंने यह भी कहा कि भारत को इस क्षेत्र में बढ़ते चीनी प्रभाव से चिंतित होने की जरूरत है।

china-us-india-navies-अमेरिका-चीन-भारत-नेवी.jpg

चीनी पनडुब्‍बी की हर जानकारी

इंडियन एक्‍सप्रेस को दिए एक इंटरव्‍यू में एडमिरल हैरिस ने कहा कि चीन के मैरीटाइम मूवमेंट के बारे में हर जानकारी आपस में शेयर की जा रही है। एडमिरल हैरिस की मानें तो अमेरिका, भारत के साथ मिलकर काम कर रहा है ताकि भारत की सर्विलांस क्षमता को बेहतर किया जा सके। उनका कहना है कि अमेरिका और भारत के बीच होने वाली मालाबार एक्‍सरसाइज इस बात का पता लगाने में काफी मदद करती है कि चीन, हिंद महासागर में क्‍या-क्‍या कर रहा है। उनका मााना है कि चीनी पनडुब्‍बी वाकई एक मुद्दा है और दोनों देशों को मालूम है कि हिंद महासागर से चीन अपनी गतिविधियों को संचालित कर रहा है। पढ़ें-विदाई से पहले ओबामा ने की मोदी से फोन पर बात  

चीन-पाक के रिश्‍ते चिंताजनक

उन्‍होंने भारत को साफ-साफ कहा कि हिंद महासागर में चीन के बढ़ते प्रभाव से परेशान होने की जरूरत है। उनका कहना है कि अगर भारत को यह लगता है कि इस क्षेत्र में चीन का प्रभाव सीमित है तो फिर चीन ने जो भी प्रभाव बनाया है, उसकी तुलना में भारत उतना प्रभावी नहीं है। उन्‍होंने यह बात भी कही कि पाकिस्‍तान पैसेफिक कमांड के अधिकार क्षेत्र में नहीं आता हे लेकिन चीन और पाकिस्‍तान के रिश्‍ते वाकई चिंता बढ़ाने वाले हैं। उन्‍होंने जानकारी दी कि भारत में अपने समकक्ष अधिकारियों से उन्‍होंने इस बात की चर्चा की है और वे भी काफी परेशान नजर आए हैं। वहीं चीन के बांग्‍लादेश के साथ करीब होते रिश्‍ते भी भारत का सिरदर्द साबित हो सकते हैं। उन्‍होंने चीन पर भारत के नजरिए को सही बताया और कहा कि अमेरिका भी चीन के लिए इसी तरह का नजरिया रखता है। भारत और अमेरिका इस मुद्दे पर काफी बेहतरीन जगह पर है। 

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
According to Admiral Harry B Harris US and Indian navies have been sharing information on the movement of Chinese submarines and ships in Indian Ocean.
Please Wait while comments are loading...