1971 में पाकिस्तान की तरफ से लड़ा था अमेरिका का ये युद्धपोत, अब किया गया सेवामुक्त

Subscribe to Oneindia Hindi

वाशिंगटन। 1971 में जिस युद्धपोत को अमेरिका ने भारत के खिलाफ इस्तेमाल किया था, उसे शुक्रवार को सेवामु्क्त कर दिया गया है। इस युद्धपोत को अमेरिका ने पाकिस्तान की तरफ से बंगाल की खाड़ी के लिए रवाना किया था। शुक्रवार को अमेरिका ने दुनिया के इस पहले परमाणु शक्ति से लैस युद्धपोत यूएसएस इंटरप्राइज को सेवामुक्त किया है। अमेरिका के बेड़े में इस युद्दपोत को 1961 में शामिल किया गया था। इस युद्धपोत ने एक नहीं बल्कि कई बार अहम भूमिका निभाई थी। यूएसएस इंटरप्राइज युद्धपोत ने क्यूबा मिसाइल क्राइसिस, वियतनाम युद्ध, इराक युद्ध और अफगानिस्तान युद्ध में काफी अहम भूमिका निभाई थी।

1971 में पाकिस्तान की तरफ से लड़ा था अमेरिका का ये युद्धपोत, अब किया गया सेवामुक्त
 ये भी पढ़ें- ट्रंप के मुस्लिम बैन वाले आदेश को पलटा, अब नहीं है अमेरिका में आने पर रोक

यह दुनिया का पहला ऐसा युद्धपोत है जो परमाणु शक्ति से लैस है। इसके अलावा अब एक और रिकॉर्ड इसके नाम दर्ज हो गया है। यह युद्धपोत दुनिया में अभी तक सबसे लंबे समय तक सेवा देना वाला युद्धपोत बन गया है। अभी तक की अपनी सेवा में इस युद्धपोत ने जितना सफर तय किया है, वह धरती के 40 चक्कर लगाने के बराबर है। शुक्रवार को जब इस युद्धपोत को सेवामुक्त किया जा रहा था तो इस पर अब तक के समय में काम कर चुके करीब 1 लाख लोग यूएसएस इंटरप्राइज युद्धपोत को अलविदा करने पहुंचे।
ये भी पढ़ें- बैन के बाद कितने वीजा कैंसिल एक लाख या 60,000 अमेरिका कनफ्यूज
आपको बता दें कि इस युद्धपोत को इनएक्टिव करने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है, जो करीब 4 साल तक चलेगी। 1971 में भारत-पाकिस्तान युद्ध के समय अमेरिका के तत्कालीन राष्ट्रपति रिचर्ड निक्सन ने बंगाल की खाड़ी के लिए इस युद्धपोत को रवाना किया था। उस समय भारत की तत्कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी को सोवियत रूस से समर्थन मिला था, इसलिए वह पीछे नहीं हटीं और फिर मॉस्को ने भारत की मदद के लिए परमाणु शक्ति से लैस वॉरशिप और पनडुब्बी बंगाल की खाड़ी भेजे। हालांकि, अमेरिका और सोवियत रूस के बेड़ों के बंगाल की खाड़ी पहुंचने से पहले ही पाकिस्तान ने भारत के सामने आत्मसमर्पण कर दिया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
US decommissions that nuclear ship USS Enterprise which threatened India in 1971
Please Wait while comments are loading...