सुरक्षा के नजरिए से चीन अभी भी भारत के लिए है चुनौती - रिपोर्ट

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। सीमा विवाद पर अपनी मुखरता की वजह से सुरक्षा के नजरिए से चीन अभी भी भारत के लिए चुनौती बना हुआ है। यह बात यूनाइटेड किंगडम के थिंक टैंक की रिपोर्ट में सामने आई है।

 

india china

पाकिस्तानी सेना ने कहा हम सीमा पर रख रहे हैं करीब से नजर

इंटरनेशनल इंस्टिट्यूट फॉर स्ट्रैटिक स्टडीज की ओर से जारी किए गए स्ट्रैटजिक सर्वे 2016 में कहा गया है कि बीते साल में भारत के पाकिस्तान और नेपाल से रिश्ते खराब रहे हैं लेकिन सीमा विवाद पर चीन की मुखरता की वजह से वो अभी भी सुरक्षा के दृष्टिकोण से अभी भी वो चिंता का प्रमुख मुद्दा है।

चीन के प्रति है कठोर रवैया

अनुपम खेर बोले, उरी हमले पर पाकिस्तानी कलाकारों से ऐसी उम्मीद नहीं थी

रिपोर्ट में कहा गया है कि यह चिंता का विषय है कि बावजूद चीन के व्यापार में बड़ा साझेदार होने और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से मजबूत व्यापार और निवेश के संबंध बनाने के भी नई दिल्ली में नीति नियंताओं की ओर से चीन के लिए कठोर रवैया है।

पढ़ें: पाक हमारा मोस्ट फेवर्ड नेशन है (MFN),जानिए इसका मतलब

वार्षिक सर्वे में कहा गया है कि मौजूदा नरेंद्र मोदी के नेतृत्व वाली सरकार के अंतर्गत लाइन ऑफ कंट्रोल से जवाबी गोलाबारी, बातचीत में उतार चढ़ाव और पठानकोट एयर बेस पर हुए हमले के कारण भारत पाक के रिश्ते अशांत हैं।

पढ़ें: सीरिया, पेरिस में हुए हमलों पर शोक जाहिर करने वाले उरी हमले पर क्‍यों नहीं रोते?

रिपोर्ट में कहा गया है कि भारत की सुरक्षा के लिए बड़ा खतरा आतंकवाद, पाकिस्तान से निकलता है जिस पर मोदी ने अपने पूर्ववर्ती सरकारों से ज्यादा कड़ा रुख अपनाया है।

शुक्रवार तक तमिलनाडु को 6000 क्यूसेक पानी हर रोज दे कर्नाटक: सुप्रीम कोर्ट

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
UK report said China remains India's primary security challenge.
Please Wait while comments are loading...