थाइलैंड की जनता ने जताया सेना के संविधान पर भरोसा

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

बैंकॉक। रविवार को थाईलैंड में नए संविधान को लेकर जनमत संग्रह हुआ था। इसके नतीजे आ गए हैं और यहां की जनता सेना और इसके नए संविधान को मंजूरी दे दी है। रायटर्स की खबर के मुताबिक 62 प्रतिशत जनता ने इस नए संविधान को हां कहा तो वहीं सिर्फ 38 प्रतिशत लोगों ने ही इसे मानने से इंकार कर दिया।

thailand-voting

थाईलैंड के इलेक्‍शन कमीशन की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक जनता ने उस नए संविधान को मंजूरी दे दी है जिसके तहत राजनीति में सेना का दखल जारी रहेगा। नए संविधान के मुताबिक संसद के उच्च सदन के सभी 250 सीटों के लिए सदस्यों को फौजी शासन मनोनीत करेगा। उनके लिए चुनाव नहीं होगा।

हालांकि थाइलैंड के मानवाधिकार गुटों ने नए संविधान की आलोचना की है। उनका मानना है कि इससे चुने नेताओं से ज्यादा नियुक्त अधिकारियों के पास ताकत होगी।

दो वर्ष पहले सत्ता संभालने वाली थाईलैंड की सैन्य सरकार ने संविधान के खिलाफ प्रचार पर प्रतिबंध लगा रखा है।मिलिट्री सपोर्टेड सरकार का मानना है कि नए संविधान से देश में एक दशक से चली आ रही अस्थिरता खत्‍म होगी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
In a referendum in Thailand called by the military government, 62 percent of the voters said they approved of the new constitution, while 38 percent rejected it.
Please Wait while comments are loading...