सऊदी अरब में बड़ा बदलाव, अब कर्मचारियों को करना पड़ेगा ज्‍यादा काम

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

रियाद। सऊदी अरब में सरकारी कर्मचारियों को अब इस्‍लामिक हिजरी कैलेंडर नहीं बल्‍कि जॉर्जियन कैंलडर के हिसाब से सैलरी मिलेगी। अखबारों की रिपोर्ट के मुताबिक सऊदी सरकार ने यह फैसला काम करने वाले महीने को लंबा करने के लिए ऐसा किया है। अंग्रेजी अखबार टाइम्‍स ऑफ इंडिया के मुताबिक पिछले हफ्ते सऊदी की कैबिनेट ने इस बदलाव को मंजूरी दी है।

Saudi Arabia abandons Islamic calendar for govt pay
  

अरब न्‍यूज और सऊदी गैजेट की रिपोर्ट के मुताबिक यह 1 अक्‍टूबर से लागू हो गया है। आपको बता दें कि सऊदी अरब दुनिया का सबसे बड़ा तेल निर्यातक है। सऊदी ने ऐसा इसलिए किया है ताकि वो सरकारी खर्चों में कटौती कर खजाने को भर सके।

नीतीश कटारा मर्डर केस: बाहुबली नेता की बेटी से इश्‍क और फिर हत्‍या की पूरी कहानी 

उल्‍लेखनीय है कि हिजरी या इस्लामी पंचांग जिसे हिजरी कैलेंडर भी कहते हैं, एक चंद्र कालदर्शक है, जो न सिर्फ मुस्लिम देशों में प्रयोग होता है बल्कि इसे पूरे विश्व के मुस्लिम भी इस्लामिक धार्मिक पर्वों को मनाने का सही समय जानने के लिए प्रयोग करते हैं। यह चंद्र-कालदर्शक है, जिसमें वर्ष में बारह मास, एवं 354 या 355 दिन होते हैं।

क्योंकि यह सौर कालदर्शक से 11 दिवस छोटा है इसलिए इस्लामी धार्मिक तिथियाँ, जो कि इस कालदर्शक के अनुसार स्थिर तिथियों पर होतीं हैं, परंतु हर वर्ष पिछले सौर कालदर्शक से 11 दिन पीछे हो जाती हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Saudi government workers will be paid according to the Gregorian calendar instead of the Islamic Hijri calendar, making the working month longer as part of cost-cutting measures, newspapers reported on Monday.
Please Wait while comments are loading...