सद्दाम हुसैन की बेटी ने की नए अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप की तारीफ

इराक के शासक सद्दाम हुसैन की बेटी राघद ने सीएनएन को दिए इंटरव्‍यू में कहा कि नेतृत्‍व के लिए बने हैं नए अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप। ट्रंप ने पुराने राष्‍ट्रपतियों की गलतियों की खोली पोल।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

वाशिंगटन। इराक शासक सद्दाम हुसैन की बेटी राघद ने नए अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप की तारीफ की है। राघद ने कहा है कि ट्रंप के पास काफी अच्‍छी राजनीतिक समझ है। उन्‍होंने उम्‍मीद जताई कि ट्रंप अपने सभी पूर्वाधिकारियों से बेहतर साबित होंगे। राघद ने सीएनएन को दिए इंटरव्‍यू में ट्रंप के लिए कई अहम बातें कहीं। आपको बता दें कि ट्रंप कई मौकों पर कह चुके हैं आज अगर सद्दाम हुसैन जिंदा होते तो दुनिया की तस्‍वीर ही अलग होती।

सद्दाम हुसैन-की-बेटी-ने-की-नए-अमेरिकी-राष्‍ट्रपति-ट्रंप-की-तारीफ
  
पढ़ें-सद्दाम की मौत के बाद इराक और मीडिल ईस्‍ट में बढ़ते गए आतंकी      

इराक के लिए अमेरिका दोषी

राघद आज इराक के हालातों के लिए अमेरिका को दोषी ठहराती हैं। उन्‍होंने इंटरव्‍यू में कहा, 'डोनाल्‍ड ट्रंप को अभी-अभी सत्‍ता मिली है। लेकिन जो एक चीज साफ नजर आ रही है, इस व्‍यक्ति के पास काफी ज्‍यादा राजनीतिक समझ है। यही चीज उन्‍हें उनके पूर्वजों से अलग करती है।' राघद ने ट्रंप को उनकी बेबाकी के लिए भी सराहा। उन्‍होंने कहा कि ट्रंप ने दूसरों की गलती को सबके समाने लाकर रख दिया, खासतौर पर इराक के संदर्भ में। इसका मतलब है कि वह जानते हैं कि इराक में क्‍या गलतियां की गई और उनके पिता के साथ क्‍या हुआ? ट्रंप ने अपने राष्‍ट्रपति चुनाव अभियान के दौरान इराक के युद्ध का विरोध किया था। हालांकि चुनाव अभियान से पहले और बाद में सार्वजनिक तौर पर दिए गए कई इंटरव्‍यूज में उन्‍होंने इराक में अमेरिकी सेनाओं के दाखिल होने का समर्थन किया था। ट्रंप ने कहा था, 'सद्दाम हुसैन एक बुरा आदमी था।' लेकिन इसी बात में उन्‍होंने सद्दाम की आतंकियों को मारने के तरीकों की तारीफ भी की।

पढ़ें-जब ट्रंप ने कहा गद्दाफी और सद्दाम के जाने से तबाह हुई दुनिया 

सद्दाम पर ट्रंप ने क्‍या कहा

ट्रंप ने पिछले वर्ष अक्‍टूबर में कहा था कि आज अगर सद्दाम हुसैन और लीबिया के शासक मुअम्‍मार गद्दाफी जिंदा होते तो शायद दुनिया की तस्‍वीर ही कुछ और होती। ट्रंप ने कहा था इराक में कभी एक भी आतंकी नहीं हुआ करता था क्‍योंकि सद्दाम हुसैन तुरंत ही आतंकी को मार डालते थे। उन्‍होंने कहा कि वह सद्दाम को एक अच्‍छा व्‍यक्ति नहीं बता रहे हैं लेकिन कुछ बातों में उनकी नीतियां दुनिया की भलाई के लिए थी। आज सद्दाम की गैर-मौजूदगी में इराक आतंकियों की ट्रेनिंग की जगह बन गया है। 2003 में अमेरिकी ने इराक पर हमला किया था और उस समय के शासक सद्दाम हुसैन को पद से हटा दिया था। राघद ने कहा कि वह किसी भी राजनीतिक संगठन से नहीं जुड़ी हुई हैं। वर्तमान इराकी सरकार ने हालांकि उन पर अपने पिता की बाथ पार्टी को समर्थन देने का आरोप लगाया है जो कि अब सत्‍ता सब बाहर है। हाल ही में इराक की सरकार ने राघद पर आईएसआईएस को समर्थन देने का आरोप भी लगाया। उन्‍होंने इस आरोप से इंकार कर दिया है।आईएसआईएस की शुरुआत वर्ष 2006 में इराक से ही हुई थी। इसी वर्ष सद्दाम हुसैन की मृत्‍यु हो गई थी। इसके बाद वर्ष 2014 में संगठन सीरिया तक पहुंच गया।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Saddam Hussein's daughter Raghad praises Donald Trump's political sensibility.
Please Wait while comments are loading...