प्रतिबंधों के बाद रूस ने कहा अमेरिका से बदला लेकर रहेंगे

अमेरिका के नए प्र‍तिबंधों के बाद रूस ने 28 अमेरिकी संस्‍थानों को बंद किया। अमेरिकी राष्‍ट्रपति बराक ओबामा ने रूस के 35 डिप्‍लोमैट्स को 72 घंटे के अंदर अमेरिका से निकल जाने को कहा है।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मॉस्‍को। अमेरिकी राष्‍ट्रपति बराक ओबामा ने राष्‍ट्रपति चुनावों में हैंकिंग का दोषी बताकर रूस पर नए प्रतिबंध लगा दिए। राष्‍ट्रपति ओबामा ने 72 घंटे के अंदर रूस के राजनयिकों को अमेरिका से निकल जाने को कहा है। रूस ने अमेरिका के इस कदम पर कहा है कि वह इसका बदला लेकर रहेगा।

russia-hacking-us-रूस-ने-कहा-अमेरिका-से-बदला-लेकर-रहेंगे

रिश्‍ते खत्‍म करना चाहता है अमेरिका

रूस ने प्रतिबंधों के खिलाफ कहा है कि इसका 'जरूरी बदला' हर हाल में लेकर रहेंगे। रूस ने आरोप लगाया है कि अमेरिका ने बिना सुबूतों के आधार पर उस पर प्रतिबंध लगा दिए हैं और वह इसके जरिए रूस के साथ अपने रिश्‍ते खत्‍म करने की कोशिशों में है। क्रेमलिन के प्रवकता दामित्री पेस्‍कोव के मुताबिक‍ अमेरिका के साथ अब रिश्‍ते काफी तनावपूर्ण हो चुके हैं। उन्‍होंने कहा कि रूस पारस्‍परिकता के सिद्धांत के आधार पर अमेरिका को जवाब देगा। रूस की न्‍यूज एजेंसी रिया-नोवोस्ती के मुताबिक पेस्कोव ने कहा है कि रूस साफ तौर पर निराधार दावों और आरोपों को खारिज करता है। अंतरराष्ट्रीय मामलों की ड्यूमा कमेटी के चेयरमैन लियोनिद स्लूत्स्की ने कहा कि रूस पर अमेरिका के प्रतिबंध और पिछले 72 घंटों में 35 एजेंटों के निष्कासन से पता चलता है कि (अमेरिका) किस हद तक भ्रमित है। उन्होंने कहा कि अमेरिका एक बार फिर से रूस के खिलाफ आक्रामक कदम उठा रहा है। पढ़ें-राष्‍ट्रपति पुतिन ने की अमेरिकी राष्‍ट्रपति रीगन की जासूसी 

रूस ने बंद किए 28 अमेरिकी इंस्‍टीट्यूट्स

रूस ने प्रतिबंधों के बाद अमेरिका पर हमला बोलने के अंदाज में कल्चरल प्रोग्राम आयोजित करने वाले और इंग्लिश पढ़ाने वाले 28 अमेरिकी इंस्‍टीट्यूट्स को तुरंत बंद करने का आदेश दिया है। इस पर अमेरिका ने कहा है कि यह साफतौर पर कूटनीतिक रिश्तों पर हमला है। अमेरिकी राष्‍ट्रपति ओबामा ने दो रशियन इंटेलीजेंस एजेंसियों जीआरयू और एफसबी पर बैन लगाया है। साथ ही जीआरयू की मदद करने वाली कंपनियों को भी बैन कर दिया है। ओबामा ने रूस के राष्‍ट्रपति ब्‍लादीमिर पुतिन पर आरोप लगाया था कि उन्‍होंने खुद चुनावों के दौरान साइबर हमले का आदेश दिया था। उन्‍होंने ऐसा डेमोक्रेटिक पार्टी की उम्‍मीदवार हिलेरी क्लिंटन को हराने और रिपलिब्‍कन पार्टी के डोनाल्‍ड ट्रंप को चुनाव में जीत मिले इसलिए किया था। पढ़ें-अमेरिका ने रूस पर लगाए नए प्रतिबंध, 35 राजनयिकों को निकाला

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Russia vows revenge on US after President Barack Obama imposed new sanctions in hacking.
Please Wait while comments are loading...