रूस ने भारत के साथ दोस्ती के 70 साल पूरे होने से पहले दिया यह अहम बयान

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। दूसरी परमाणु पनडुब्‍बी लीज पर देने के साथ ही भारत और रूस के बीच इस महीने 12 अरब डॉलर से ज्‍यादा के सौदे फाइनल हुए हैंं। रूस भविष्‍य में भारत के साथ और भी सौदा होने की उम्‍मीद कर रहा है।

रूस ने भारत के साथ दोस्ती बनने के 70 साल पूरे होने से पहले दिया यह अहम बयान

रूस के साथ तैयार होगी एक ऐसी मिसाइल जिसकी रेंज में होगा पूरा पाकिस्‍तान

रूस भारत को महज व्‍यापारिक साझेदार नहीं बल्कि ऐसा 'मित्र' मानता है जिसकी रूस ने जरूरत के वक्‍त और सबसे खराब समय में भी उसका साथ दिया।

रूस की नजर अब भारत की मल्‍टी बिलियन डॉलर डील पी75आई परियोजना पर है। भारत इसके तहत एयर इंड‍ेेपेंडेंट प्रोपल्‍शन सिस्‍टम वाली 6 पारंपरिक पनडुब्बियां निर्मित करेगा। इसके अलावा रूस नई पीढ़ी के विमानवाहक पोत परियोजना और पांचवींं जेनरेशन के फाइटन प्‍लेन को भारत के साथ मिलकर बनाना चाहता हैै।

BRICS सम्मेलन में इन 7 बातों को हासिल करने से चूके मोदी

रूस के एक टॉप लेवल ऑफिसर के मुताबिक, भारत को अमेरिका या किसी अन्य यूरोपीय मुल्क से वह मदद नहीं मिल सकती जिसकी पेशकश रूस ने की है।

700 हाईटेक असैन्य व सैन्य कंपनियों के ग्रुप रोस्टेक स्टेट कॉर्पोरेशन के सीईओ और रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के करीबी सर्गेई चेम्जोव की मानें तो रूस न सिर्फ कारगर और जरूरी हथियार मुहैया कराने को तैयार है बल्कि वह अपनी लेटेस्ट टेक्नोलॉजी देना भी जारी रखेगा।

पाकिस्तान ने बॉर्डर पर फिर तोड़ा सीजफायर, आरएसपुरा सेक्टर में दागे मोर्टार शेल

भारत और रूस की दोस्ती के अगले साल 70 वर्ष पूरे हो जाएंगे। उन्होंने याद दिलाया कि रूस भारत के साथ 1998 में तब भी खड़ा रहा था जब परमाणु परीक्षण के बाद उसपर बैन लगा था।

रूस ने भारत को परमाणु चालित पनडुब्बी लीज पर देने के साथ ही परमाणु हथियार ले जाने में सक्षम पहली स्वदेशी पनडुब्बी आईएनएस अरिहंत बनाने में भी मदद की थी। इसे हाल ही में भारतीय नौसेना में शामिल किया गया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Russia to India: We have stood by India in its 'darkest hours', defence official clears it how.
Please Wait while comments are loading...