कार लेकर जा घुसा आईएस के गढ़ में, बचाई 70 जानें

Subscribe to Oneindia Hindi

किरकुक। इन दिनों इराक में आईएसआईएस और सुरक्षाबलों के बीच भीषण लड़ाई चल रही है। इस लड़ाई में एक कुर्दिश पेशमर्गा लड़ाके अब्दुलरहमान ने साहस दिखाते हुए एक मिसाल कायम की है। इस लड़ाके ने आईएसआईएस के गढ़ में घुसकर 70 लोगों की जान बचाई है।

iraq

दरअसल, यह लड़ाका अपनी बुलेटप्रूफ बीएमडब्ल्यू कार लेकर आतंकियों के गढ़ में घुस गया और 70 घायल लोगों को बचाकर बाहर निकाल लाया। वह लोगों को बचाने के लिए साहस दिखा रहे थे और आतंकी लगातार उनकी कार पर गोलियां बरसा रहे थे।

सीएनएन की खबर के मुताबिक इराक में आईएस के खिलाफ लड़ रहे सुरक्षाबलों में कुर्दिश पेशमर्गा लड़ाके भी शामिल हैं। अब्दुलरहमान ने यह कार खुद को बचाने के लिए खरीदी थी, जब उन्हें यह पता चला कि आईएस के लड़ाके किरकुक की तरफ बढ़ रहे हैं।

21 अक्टूबर को आईएस ने किरकुक पर हमला किया, जिसमें बहुत से लोगों की मौत हो गई और करीब 100 से अधिक लोग घायल हो गए। इसके बाद अब्दुलरहमान ने उन घायल लोगों को बचाने का फैसला किया और अपनी बीएमडब्ल्यू कार लेकर आईएस के गढ़ में जा घुसे।

अब्दुलरहमान ने कहा- यही लोगों की मदद करने का सही समय है। मेरे पास एक बुलेटप्रूफ कार है और अगर मैं अभी भी लोगों की मदद नहीं कर सका तो ये मेरे लिए शर्म की बात होगी। इसके बाद वह कई बार किरकुक में अपनी कार लेकर घुसे और लोगों को बचाते रहे।

bmw

दरअसल, कोई भी वहां जाने की हिम्मत नहीं कर रहा था क्योंकि वहां पर आईएस के आतंकी मौजूद थे। अब्दुलरहमान ने न सिर्फ 70 घायलों को बचाया, बल्कि कई शवों को भी उन्होंने बाहर निकाला।

मदद करते समय अब्दुलरहमान ने किसी भी जाति धर्म के बारे में नहीं सोचा। उन्होंने खुद को एक सच्चा इराकी कहते हुए सुन्नी, शिया, कुर्द, तुर्क और ईसाई, सभी लोगों की जान बचाई। उनकी कार पर 50 से भी अधिक गोलियों के निशान हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
person saved the life of 70 people from isis
Please Wait while comments are loading...