जाधव मामले में पाक सरकार के खिलाफ उठने लगी आवाज

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

कराची। इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ जस्टिस में जिस तरह से कुलभूषण जाधव के मामले में पाकिस्तान को मुंह की खानी पड़ी है उसके बाद पाकिस्तान के भीतर भी सरकार के खिलाफ आवाज उठने लगी है। पाकिस्तान में भी अब लोग यह सवाल पूछने लगे हैं कि कुलभूषण जाधव को काउंसल क्यों नहीं दिया गया। लेकिन बड़ी बात यह है कि पाकिस्तान में यह आवाज तब उठी है जब उसे विश्व समुदाय में शर्मसार होना पड़ा है।

nawaz sharif

आईसीजे ने जाधव मामले पर सुनवाई करते हुए कहा था कि भारत के कुलभूषण जाधव को काउंसल एक्सेस मुहैया कराया जाए और जबतक मामले की सुनवाई नहीं पूरी हो जाती है उन्हें फांसी नहीं दी जाए। जाधव को पिछले वर्ष मार्च माह में गिरफ्तार किया गया था। जिसके बाद भारत ने 16 बार जाधव को काउंसल एक्सेस मुहैया कराने की मांग की थी, लेकिन इसे पाकिस्तान ने हर बार खारिज कर दिया था। पाकिस्तान मानवाधिकार कार्यकर्ता आसमा जहांगीर ने कहा कि यह बात सामने आनी चाहिए कि जाधव को वकील मुहैया नहीं कराने की बात सबसे पहले किसने कही थी।

जहांगीर ने कहा कि क्या पाकिस्तान के इस फैसले से भारत की जेलों में बंद पाकिस्तानी कैदियों की मुश्किलें बढ़ेंगी। क्या कोई एक व्यक्ति अंतर्राष्ट्रीय नियमों को बदल सकता है। जहांगीर के सवालों को पाकिस्तान के एक बड़े वकील ने आगे बढ़ाते हुए कहा कि पाकिस्तान को जाधव को वकील काउंसलर एक्सेस मुहैया कराना चाहिए था। पाकिस्तान के वकील यासिर लतीफ हमदानी ने कहा कि आईसीजे यह कभी नहीं कहता कि जाधव को काउंसल एक्सेस मुहैया ना कराइए।

इसे भी पढ़ें- ICJ में करारी हार के बाद पाकिस्‍तान अब नई लीगल टीम के साथ लड़ेगी कुलभूषण जाधव का केस

यासिर ने आईसीजे के फैसले को सही ठहराते हुए कहा कि आईसीजे में भारत की अपील के बाद कोर्ट नेमहज 10 दिन के भीतर अपना निर्णय दे दिया। उन्होंने कहा कि आईसीजे भारत की अपील को आपात समय में इसलिए सुनने को तैयार हुआ क्योंकि पाकिस्तान ने इस बात का भरोसा नहीं दिया था कि वह जाधव को फांसी पर नहीं लटकाएगा। इसी वजह से यह फैसला आया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
People of pakistan questions why Jadhav was not given consular access. People says Jadhav should have given consular access.
Please Wait while comments are loading...