पाकिस्तानी धर्मगुरुओं ने फ्लाइट पर महिला के साथ किया ये कैसा सलूक

Subscribe to Oneindia Hindi

कैलिफोर्निया। यूनाइटेड एयरलाइन्स की फ्लाइट पर दो पाकिस्तानी धर्मगुरुओं ने एक अमेरिकन महिला के बगल में बैठने से इनकार कर दिया। इसके बाद एयरलाइन्स ने महिला की सीट बदल दी।

सीट बदले जाने की वजह से महिला अपने साथ हुए भेदभाव से खफा हुईं और एयरलाइन्स को माफी मांगने को कहा। यूनाइटेड एयरलाइन्स ने इस घटना पर दुख जताया है।

READ ALSO: ये हैं वे 10 सबसे शक्तिशाली हथियार, जो हैं हमारी सेनाओं की ढाल

mary campos

अपने साथ हुए बर्ताव पर महिला रह गईं भौंचक

कैलिफोर्निया की मैरी कंपोस का कहना है कि उनके बगल में जब धर्मगुरुओं ने बैठने पर आपत्ति जताई तो एयरलाइन्स ने उनकी सीट बदल दी।

इस घटना से मैरी को धक्का लगा। उनका कहना है, 'मैं तो सोचती थी कि ऐसे संस्कृति में रहती हूं जहां महिलाएं पुरुष के बराबर हैं। किसी दूसरे देश के लोगों के विश्वास के आधार महिलाओं के साथ ऐसा भेदभाव कैसे किया जा सकता है।'

'मैडम, आपकी सीट बदल दी गई है'

कंपोस ने कहा कि जब वह यूनाइटेड एयरलाइन्स के विमान पर सवार होने जा रही थीं तभी गेट पर खड़े एजेंट ने उनको अलग सीट का बोर्डिंग पास दिया।

उसने कहा कि मैडम, आपको नई सीट दी जा रही है। दो पाकिस्तानी धर्मगुरुओं के अलग धार्मिक विश्वास हैं। वो दोनों किसी महिला के आजू-बाजू में बैठना नहीं चाहते और किसी भी तरह की बात नहीं करना चाहते हैं।

कंपोस ने बताया कि विमान में एयर होस्टेस को भी उन धर्मगुरुओं से दूर रहने को कहा गया।

खफा हुईं मैरी, एयरलाइन्स के सीईओ को लिखा पत्र

मैरी विमान में नई सीट पर बैठ तो गईं लेकिन उसके बाद उन्होंने एयरलाइन्स के सीईओ को चिट्ठी लिखी।

उन्होंने सीईओ से इस घटना पर माफी मांगने को कहा और एयरलाइन्स की नीति बदलने की मांग की।

यूनाइटेड एयरलाइन्स के प्रवक्ता ने मैरी कंपोस को नई सीट देने के मामले पर दुख जताया है।

READ ALSO: सर्जिकल स्ट्राइक के पीछे के असली जासूस का पता चला

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Two Pakistani monks on board a United Airlines flight refused to seat beside a woman. After that, Airlines changed the seat of female passengers.
Please Wait while comments are loading...