रूस और सऊदी अरब में ऐसी क्‍या बातचीत हुई जो बढ़ने लगे तेल के भाव

Subscribe to Oneindia Hindi

सिंगापुर। कच्चे तेल की कीमतों में गिरावट से निपटने को लेकर रूस और सऊदी अरब के बीच हुई बातचीत के बाद अचानक ही कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी होना शुरू हो गई है। पर अभी यह सामने नहीं आई है कि दोनों देशों ने कच्चे तेल की कीमत कम होने के चलते क्या बातचीत हुई है।

Petrol

तेल का उत्पादन घटाने पर फैसला नहीं किया

सऊदी अरब के ऊर्जा मंत्री खालिद अल-फालि​ह और रूस के मंत्री एलेक्जेंडर नोवाक ने तेल की कम कीमतों से निपटने के लिए साथ मिलकर काम करने का फैसला किया है। पर अभी दोनों ही देशों ने तेल का उत्पादन घटाने पर फैसला नहीं किया है।

सऊदी अरब: बिना सैलरी के देश लौटने को नहीं हैं तैयार, हजारों कामगार

जी20 देशों की बैठक के दौरान दोनों देशों के बीच हुई बातचीत में यह कहा गया कि दोनों ही देश तेल के उत्पादन को लेकर साथ मिलकर काम करने के लिए तैयार हैं। साथ ही दोनों देशों ने संयुक्त रूप से एक ज्वाइंट मॉनीटरिंग ग्रुप बनाने का भी फैसला किया है। यह समूह तेल की कीमतों में होने वाले उतार-चढ़ाव का अध्ययन करेगा।

मुफ्त में करनी हैं बातें, तो ये 30 फोन करेंगे आपकी मदद

रूस तीन सप्ताह बाद ओेपेक देशों के समूह में शामिल होगा

मीडिया में इस बयान के आने के बाद ही सोमवार को कच्चे तेल की कीमतों में बढ़ोतरी दर्ज की गई। इसके बाद कच्चे तेल की कीमत 45.28 डॉलर प्रति बैरल से बढ़कर 47.68 डॉलर प्रति बैरल हो गई।

सऊदी में फंसे भारतीय बेरोजगारों से बोली सुषमा, 25 सितंबर तक वापस आ जाओ

दोनों ही देशों की तरफ से यह बयान तब आया है जब रूस तीन सप्ताह बाद ओेपेक देशों के समूह में शामिल होगा। सउदी अरब पिछले दो साल से कच्चे तेल की कीमत कम होने के चलते अपनी अर्थव्यवस्था को संभाल नहीं पा रहा है। तीन सप्‍ताह बाद होने वाली ओपेक देशों की बैठक में कुछ और निर्णय हो सकते हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Oil prices up after russia saudi arab talk in g20
Please Wait while comments are loading...