पिटाई का आरोप लगाकर नॉर्वे में NRI मां-बाप से छीना बच्‍चा, बीजेपी से मदद की गुहार

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। नॉर्वे में रह रहे एक भारतीय मूल के माता-पिता से वहां के प्रशासन ने उनके पांच साल के बेटे को उनसे अलग कर दिया है। अंग्रेजी बेवबसाइट The Huffington Post के मुताबिक मूल रूप से भारत के रहने वाले अनिल कुमार नॉर्वे में एक रेस्‍त्रां चलाते हें। अनिल ने बताया कि बीते 13 दिसंबर को उनके पांच साल के बच्‍चे को नॉर्वे के चाइल्‍ड वेलफेयर एसोशिएसन डिपार्टमेंट ने स्‍कूल से ही अपने कस्‍टडी में ले लिया।

VIDEO: नोटबंदी पर इस बच्‍चे ने बड़े क्‍यूट अंदाज में की पीएम मोदी की आलोचना 

Norway authorities take custody of child

अनिल ने बताया उसी दिन चार पुलिसकर्मी उनके घर आए और उनकी पत्‍नी गुरविंदर कौर को भी हिरासत में ले लिया। पुलिस ने उनकी पत्‍नी से लगभग 3 घंटे तक पूछताछ की। अनिल ने बताया कि पूछताछ के बाद बच्चे को नॉर्वे के चिलड्रेन वेलफेयर होम में ले जाया गया है जो हमार में स्थित है और यह ओस्लो शहर से 150 किलोमीटर दूर है। जब डिपार्टमेंट से ऐसा करने का कारण पूछा गया तो उनपर आरोप लगा दिया गया कि वो बच्‍चे को पीटते हैं।

अनिल ने बताया कि घटना को लेकर उन्होंने दिल्ली के बीजेपी नेताओं से बातचीत कर मदद की गुहार लगाई है। आपकों बता दें कि कुमार ओस्लो में बीजेपी ओवरसीज फ्रेंड्स के वाइस प्रेसिडेंट हैं। अनिल ने बताया कि वो 14 और 16 दिसंबर को नॉर्वे के चाइल्ड वेलफेयर के अधिकारियों से दो बार मुलाकात कर चुके हैं, लेकिन अब तक उन्होंने कोई सबूत पेश नहीं किया है। हांलाकि उनका कहना है कि बच्चे का अच्छी तरह से खयाल रखा जा रहा है और उसे उसके पसंद का भारतीय भोजन खाने को दिया जा रहा है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Norway authorities have taken custody of a 5-year-old child from his NRI parents and have accused them of beating him up.
Please Wait while comments are loading...