महिला एमपी की मांग, बीमार शारीरिक संबंध बनाना चाहते हैं तो सरकार करे मदद

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

बर्लिन। अगर कोई गंभीर रूप से बीमार है या फिर अपाहिज है तो सरकार को शारीरिक संबंध बनाने के लिए उसकी मदद करनी चाहिए। जैसे बीमार आदमी अगर पैसे देकर वेश्या के पास जाकर संबंध बनाता है तो सरकार को उसके पैसे लौटाने चाहिए। ये मांग है जर्मनी की ग्रीन पार्टी की प्रवक्ता और सांसद एलिजाबेथ स्कैरफेनबर्ग की। बीबीसी की खबर के मुताबिक, स्कैरफेनबर्ग ने वेल्ट एएम सोनटैग अखबार से बातचीत में ये कहा।

महिला एमपी की मांग, बीमार शारीरिक संबंध बनाना चाहतें हैं तो सरकार करे मदद

एलिजाबेथ स्कैरफेनबर्ग ने कहा कि सेक्स करने के लिए स्थानीय अधिकारियों को आर्थिक मदद देनी चाहिए। अगर अपंग और गंभीर रूप से बीमार लोग अगर पैसे देकर सेक्स करते हैं तो उन्हें यह पैसा सरकार से वापस लेने का हक मिलना चाहिए। हालांकि उन्हें इसके लिए यह साबित करना होगा कि उन्हें सेक्स करने की सलाह डॉक्टर ने दी है। ऐसे में सेक्स वर्कर को देने के लिए उन्हें पैसा मिलना चाहिए। महिला एमपी का कहना है कि कई बार डॉक्टर ही मरीज को शारीरिक संबंध बनाने की सलाह देते हैं, तो ऐसे में इसे इलाज का हिस्सा माना जाए।

जर्मनी में कानून वैध है वेश्यावृति
जर्मनी में 2002 से वेश्यावृति को कानूनी मान्यता दी हुई है। कई सेक्स वर्करों ने नर्सिंग होम में अपनी सेवाएं दी हैं। सांसद का इंटरव्यू करने वाले अखबार के मुताबिक सेक्स संबंधी सलाह देने वालों का कहना है कि कई नर्सिंग होम मरीज को कमरे में ही वेश्याएं उपलब्ध कराते हैं। डॉक्टरों का कहना है कि कुछ मरीजों के लिए सेक्स करना काफी बढिया रहता है। महिला सांसद की ये मांग कोई बहुत अनोखी नहीं है। नीदरलैंड में इलाज में होने वाले खर्च के तौर पर सेक्स पर होने वाले खर्च को भी शामिल किया जाता है। इसे खर्च को सरकार से वापस लेने का दावा करने का भी वहां प्रावधान है। 
पढ़ें- मां ने अपने प्रेमी से कराया 13 साल की बेटी का रेप, खुद बैठकर देखती रही

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
mp Seeking government support for sick people who want relationship
Please Wait while comments are loading...