चुनावों से पहले ट्रंप और हिलेरी की आखिरी बहस की खास बातें

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

लास वेगास। आठ नवंबर को अमेरिका में राष्‍ट्रपति चुनाव होने वाले हैं। इन चुनावों से पहले लास वेगास में रिपब्लिकन डोनाल्‍ड ट्रंप और डेमोक्रेट पार्टी की हिलेरी क्लिंटन के बीच तीसरी और आखिरी बहस हुई।

पढ़ें-अमेरिकी जनता गधे और हाथी पर निशान लगाकर चुनती है राष्‍ट्रपति

इस बहस में ट्रंप ने जहां इस बात पर जोर दिया कि नागरिकों को हथियार रखने के अधिकार से जुड़े नियमों में होने वाले दूसरे संशोधन को रोकना चाहिए। वहीं हिलेरी क्लिंटन ने ट्रंप की इस बात का विरोध किया।

पढ़ें-राष्‍ट्रपति बनने के बाद ट्रंप दे सकते हैं परमाणु हमले का आदेश!

इस बहस में ही ट्रंप ने यह दावा भी किया कि जितना सम्‍मान वह महिलाओं का करते हैं, उतना कोई नहीं करता तो उन्‍होंने यह बात भी कही कि आठ नवंबर को होने वाले परिणाम उन्‍हें अमान्‍य होंगे अगर चुनावों में क्लिंटन को जीत मिली।

पढ़ें-ट्रंप के वीडियो के बाद पहली बार क्‍या बोलीं पत्‍नी मिलानिया

अमेरिकी राष्‍ट्रपति चुनावों में पहली महिला उम्‍मीदवार क्लिंटन को 'एक खतरनाक महिला' करार दिया। वहीं हिलेरी ने ट्रंप को बहस के दौरान रूस के राष्‍ट्रपति ब्‍लादीमिर पुतिन के हाथों की 'कठपुतली' कह डाला।

एक नजर डालिए इस बहस के कुछ खास बिंदुओं पर। लेकिन इससे पहले आपको बता दें कि अंतिम और निर्णायक बहस की विजेता हिलेरी क्लिंटन रही हैं। 

गर्भपात पर हिलेरी और ट्रंप

गर्भपात पर हिलेरी और ट्रंप

हिलेरी-हिलेरी ने वादा किया कि वह वर्ष 1973 में आए गर्भपात कानून में बदलाव कर महिलाओं को उनका हक दिलवाएंगी। हिलेरी के मुताबिक गर्भपात किसी भी महिला या फिर उसके परिवार के लिए एक सबसे बुरा विकल्‍प होता है लेकिन उनका मानना है कि सरकार को इसमें हस्‍तक्षेप नहीं करना चाहिए।

ट्रंप- ट्रंप ने वादा किया कि वह वर्तमान कानून को बदल कर रख देंगे। ट्रंप के मुताबिक वर्तमान कानून के तहत कोई भी मां जन्‍म से कुछ क्षण पहले ही बच्‍चे को मार सकती है। आपको बता दें कि ट्रंप हमेशा से गर्भपात के खिलाफ बोलते आए हैं। बहस के दौरान ट्रंप की राय को हिलेरी ने दुर्भाग्‍यशाली बताया।

पुतिन पर भिड़े दोनों नेता

पुतिन पर भिड़े दोनों नेता

हिलेरी क्लिंटन- हिलेरी ने ट्रंप को रूस के राष्‍ट्रपति ब्‍लादीमिर पुतिन के हाथों की 'कठपुतली' बताया। क्लिंटन ने कहा, 'पुतिन को अमेरिका में राष्‍ट्रपति नहीं चाहिए बल्कि अपने लिए एक कठपुतली चाहिए।' क्लिंटन के मुताबिक ट्रंप को पुतिन पर ज्‍यादा भरोसा है ने कि अमेरिकी सेना और इसके इंटेलीजेंस अधिकारियों पर जो देश की रक्षा का वचन लेते हैं।

डोनाल्‍ड ट्रंप- ट्रंप के मुताबिक पुतिन ने हमेशा ही क्लिंटन को मात दी है। ट्रंप ने कहा, 'पुतिन, हमेशा ही अपने हर कदम में ओबामा और क्लिंटन को पराजित करते आए हैं।' उन्‍होंने राष्‍ट्रपति बराक ओबामा को क्लिंटन की ही तरह एक डेमोक्रेट करार दिया। ट्रंप ने कहा कि वह पुतिन के करीबी नहीं हैं लेकिन उनके संबंध पुतिन से क्लिंटन की तुलना में काफी बेहतर साबित होंगे।

मोसुल पर क्‍या बोले दोनों उम्‍मीदवार

मोसुल पर क्‍या बोले दोनों उम्‍मीदवार

हिलेरी क्लिंटन- हिलेरी ने हाल ही में इराक के मोसुल शहर में शुरू किए अमेरिकी अभियान पर कहा कि आईएसआईएस को खत्‍म करना अमेरिका की प्राथमिकता है। क्लिंटन के मुताबिक वह आईएसआईएस के चीफ अबु-बकर-अल बगदादी को भी अल कायदा के चीफ ओसामा बिन लादेन की तरह ही खत्‍म करेंगी।

डोनाल्‍ड ट्रंप-ट्रंप ने कहा कि मोसुल को वापस इराक की सरकार को देकर अमेरिका को कुछ हासिल नहीं होगा। ईरान अब इराक पर हावी होता जा रहा है। ट्रंप ने आरोप लगाया कि मोसुल में अमेरिकी अभियान हिलेरी को चुनावों में जीत दिलाने के मकसद से शुरू किया गया है।

परिणामों पर क्‍या बोले दोनों

परिणामों पर क्‍या बोले दोनों

डोनाल्‍ड ट्रंप- ट्रंप ने कहा कि नवंबर में होने वाले चुनावों में अगर उन्‍हें हिलेरी के हाथों हार मिलती है तो फिर वह इन नतीजों को स्‍वीकार नहीं करेंगे। ट्रंप ने जनता को चेतावनी देने के अंदाज में कहा कि हिलेरी की जीत का मतलब होगा चुनावों में धोखा हुआ है। ट्रंप ने कहा कि नतीजों के बाद उनका रुख क्‍या होगा इस पर वह अभी जनता को सस्‍पेंस में रखना चाहते हैं।

हिलेरी क्लिंटन-हिलेरी ने ट्रंप के इस रवैये को काफी डरावना और खतरनाक करार दिया।

गन राइट्स पर दोनों की राय

गन राइट्स पर दोनों की राय

डोनाल्‍ड ट्रंप-ट्रंप ने कहा कि वह सुप्रीम कोर्ट के एक जस्टिस को अप्‍वाइंट करेंगे जो अमेरिकी गन राइट्स की सुरक्षा करेंगे। ट्रंप ने बताया कि हिलेरी क्लिंटन दूसरे संशोधन को पूरी तरह से खत्‍म कर देना चाहती हैं जिसमें संविधान के तहत हथियार रखने का अधिकार मिला है।

हिलेरी क्लिंटन- क्लिंटन ने कहा कि वह गन राइट्स का समर्थन करती हैं लेकिन इसमें कुछ अतिरिक्‍त बदलाव चाहती हैं। हिलेरी का मानना है कि लोगों की जान बचाने और दूसरे संशोधन के बीच किसी तरह का कोई संघर्ष नहीं है। हिलेरी का कहना था कि किसी भी मासूम या किसी बच्‍चे की मौत बंदूक की वजह से नहीं होनी चाहिए।

महिलाओं का सम्‍मान करते हैं ट्रंप

महिलाओं का सम्‍मान करते हैं ट्रंप

ट्रंप ने इस बहस के दौरान कहा कि वह महिलाओं का जितना सम्‍मान करते हैं, उतना कोई भी नहीं करता है। वहीं हिलेरी ने इस पर ट्रंप को जवाब दिया कि वह महिलाओं का जरा भी सम्‍मान नहीं करते बल्कि हिंसा को बढ़ावा देते हैं। जहां ट्रंप ने हिलेरी को एक खतरनाक महिला बताया तो हिलेरी ने उन्‍हें अमेरिकी चुनावों का सबसे खतरनाक उम्‍मीदवार करार दिया।

 शरणार्थियों पर राय

शरणार्थियों पर राय

डोनाल्‍ड ट्रंप-ट्रंप ने कहा कि हिलेरी की शरणार्थियों को लेकर बनी योजना अमेरिका को विनाश की ओर ले जाएगी। इस योजना के तहत अमेरिकी सीमाओं को व्‍यापार के लिए खोला जाएगा और अमेरिका का विनाश शुरू हो जाएगा।

हिलेरी क्लिंटन-क्लिंटन ने इस पर ट्रंप को जवाब दिया कि ट्रंप की योजना को एक बड़े कानून की जरूरत है जिससे सभी शरणार्थियों की पहचान हो सके।

 परमाणु हथियार

परमाणु हथियार

हिलेरी क्लिंटन-ट्रंप हमेशा से परमाणु हथियारों को लेकर हमेशा घमंड से भरे रहते हैं। ऐसे में उन पर जरा भी भरोसा नहीं करना चाहिए और उन्‍हें न्‍यूक्लियर कोड्स नहीं देने चाहिए।

डोनाल्‍ड ट्रंप-ट्रंप ने कहा हिलेरी क्लिंटन रूस के साथ हुई उस संधि के लिए जिम्‍मेदार हैं जो रूस को परमाणु हथियार बनाने की इजाजत देेते हें लेकिन अमेरिका को इसकी मंजूरी नहीं देता।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Key points of Donald Trump and Hillary Clinton's 3rd Presidential debate.
Please Wait while comments are loading...