पाक को अफगान राष्ट्रपति की चेतावनी, 'वाघा बॉर्डर खोलो वरना तुम्हारा रास्ता बंद कर दूंगा'

Subscribe to Oneindia Hindi

काबुल। अफगानिस्तान के राष्ट्रपति अशरफ गनी ने पाकिस्तान को चेतावनी देते हुए कहा कि अगर भारत जाने के लिए अफगानी व्यापारियों को वह वाघा बॉर्डर का इस्तेमाल नहीं करने देगा तो पाक व्यापारियों के मध्य एशियाई देशों में आने जाने के ट्रांजिट रूट को भी बंद कर दिया जाएगा।

READ ALSO: पठानकोट हमले को लेकर घिरा पाक, आतंकियों को मदद पहुंचाने का आरोप

ashraf ghani

ब्रिटेन के विशेष दूत से बातचीत में यह बात कही

मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, अफगानी राष्ट्रपति ने ब्रिटेन के विशेष दूत ऑवन जेनकिन्स से मुलाकात के दौरान कहा कि अगर पाकिस्तान अफगानी व्यापारियों को एक्सपोर्ट इंपोर्ट के लिए वाघा बॉर्डर का इस्तेमाल करने की इजाजत नहीं देता है तो अफगानिस्तान भी कड़े कदम उठाने से पीछे नहीं हटेगा।

गनी ने कहा कि पाकिस्तान के वाघा बॉर्डन न खोलने की स्थिति में अफगानिस्तान भी पाक व्यापारियों के लिए उन ट्रांजिट रूटस को बंद कर देगा जिनके जरिए वे मध्य एशिया और अन्य देशों में व्यापार के लिए आते जाते हैं।

पाकिस्तान की वजह से अफगान व्यापारियों का करोड़ों का नुकसान

राष्ट्रपति अशरफ गनी ने कहा कि पाकिस्तान हमेशा अफगान व्यापारियों के लिए रास्ते बंद करता रहा है जिस वजह से उनका करोड़ों का नुकसान हुआ है। हमारे पास भी एक्सपोर्ट इंपोर्ट के कई ट्रांजिट रूट्स हैं जिनको हम बंद कर सकते हैं।

अफगानिस्तान और पाकिस्तान में चल रहा तनाव

तोरखम बॉर्डर को लेकर अफगानिस्तान और पाकिस्तान के बीच हाल में तनातनी हो गई थी। अभी भी दोनों देशों के रिश्ते पटरी पर नहीं हैं। ऐसे हालात में राष्ट्रपित अशरफ गनी का यह बयान पाकिस्तान को सकते में डालने वाला है।

लंबे समय से अफगानिस्तान मांग रहा रास्ता

भारत से व्यापार के लिए अफगानिस्तान लंबे समय से अटारी जाने के रास्ते को खोलने की मांग पाकिस्तान से करता रहा है लेकिन भारत के साथ खराब रिश्तों की वजह से वह ऐसा नहीं कर रहा है।

READ ALSO: गुस्साए पाक ने किया बलूचिस्तान पर हमला, महिलाओं-बच्चों को भी नहीं बख्शा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
President Ashraf Ghani warned Pakistan that Afganistan will shut its transit route if Wagah border will not be opened for trading with India.
Please Wait while comments are loading...