सबसे पहले मिले जापानी पीएम एबे से मिले नए अमेरिकी राष्‍ट्रपति ट्रंप

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

न्‍यूयॉर्क। राष्‍ट्रपति चुनावों में जीत हासिल करने के बाद अमेरिका के नए राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने किसी विदेशी नेता से मुलाकात की। ट्रंप ने जापान के प्रधानमंत्री शिंजो एबे से न्‍यूयॉर्क में अपने घर पर मुलाकात की। 

shinzo-abe-trump-meeting.jpg

90 मिनट की मुलाकात

दोनों नेता ट्रंप के न्‍यूयॉर्क स्थित ट्रंप टॉवर वाल घर में करीब 90 मिनट तक साथ थे। इस दौरान ट्रंप की बेटी इंवाका ट्रंप और उनके दोनों बेटे भी मौजूद थे।

एबे ने मीटिंग के बाद कहा कि यह मुलाकात दोनों नेताओं के बीच 'विश्‍वास का रिश्‍ता' बन सकती है। वहीं ट्रंप की टीम ने इस मीटिंग को पर्सनल मीटिंग बताया।

पढ़ें-ओबामा की वजह से व्‍हाइट हाउस से काम नहीं कर पाएंगे ट्रंप!

अमेरिका के साथ रिश्‍ते काफी अहम

एबे ने मीटिंग के बाद मीडिया को बताया कि वह काफी सम्‍मानित महसूस कर रहे हैं कि ट्रंप ने दुनिया के बाकी नेताओं से पहले उनसे मुलाकात की।

एबे के मुताबिक जापान-अमेरिका के रिश्‍ते जापान के लिए काफी अहम हैं। ये रिश्‍ते कूटनीति और सुरक्षा का आधार हैं।

ट्रंप की जीत के बाद उन्‍हें दुनियाभर के 32 नेताओं ने फोन पर बधाई दी थी। इसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत चीन के राष्‍ट्रपति शी जिनपिंग, पाकिस्‍तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ और रूस के राष्‍ट्रपति ब्‍लादीमिर पुतिन भी शामिल हैं।

पढ़ें-नए राष्‍ट्रपति ट्रंप ने क्‍यों की पीएम नरेंद्र मोदी की तारीफ

क्‍या कहा था ट्रंप ने चुनाव के समय

पीएम एबे के साथ ट्रंप की यह मुलाकात इसलिए काफी अहम है क्योंकि ट्रंप ने अपने चुनावी अभियान में जापान को लेकर कई टिप्‍पणियां की थीं। इनकी वजह से जापान में एक अजीब सा माहौल था।

ट्रंप ने अपने चुनावी प्रचार के दौरान अमेरिका और जापान के रिश्‍तों पर काफी कड़वाहट भरा बयान दिया था।

ट्रंप ने कहा था कि साउथ कोरिया और जापान दोनों को परमाणु हथियार हासिल कर लेने चाहिए ताकि वह नॉर्थ कोरिया से खुद को बचा सकें।

पढ़ें-कौन हैं ट्रंप के यार अमेरिकी हिंदू नेता शलभ शाली कुमार

अमेरिका पर निर्भरता खत्‍म करने की सलाह

ट्रंप का कहना था कि जापान और साउथ कोरिया दोनों को अमेरिका पर सुरक्षा के लिए निर्भरता खत्‍म करनी होगी।

जहां साउथ कोरिया वर्तमान समय में अमेरिका को 800 मिलियन डॉलर देता है तोा जापान एक वर्ष में दो बिलियन डॉलर की रकम अमेरिका को देना है।

साउथ कोरिया अपने देश में अमेरिकी सेना के डेप्‍लॉयमेंट का आधी रकम अदा करता है। वहीं यह 9.7 बिलियन डॉलर अमेरिकी मिलिट्री बेस को रिलोकेट करने के लिए अदा करता है। 

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Japanese PM Shinzo Abe meets Newly elect US President Donald Trump.
Please Wait while comments are loading...