मसूद अजहर पर प्रतिबंध नहीं लगाने पर भारत ने UNSC को घेरा

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद के सरगना मसूद अजहर को बैन नहीं करने के यूएन सेक्युरिटी काउंसिल के फैसले की जमकर आलोचना की है, भारत ने दलील दी है कि जब इस संगठन पर प्रतिबंध है तो इसके नेता पर प्रतिबंध क्यों नहीं है।

masood azahar

भारत से कितना अलग होते हैं अमेरिकी चुनाव और कैसे चुना जाता है राष्‍ट्रपति

क्यूं नहीं लग रहा मसूद पर बैन

यूएन में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरूद्दीन ने रविवार को काउंसिल पर जमकर निशाना साधते हुए मसूद पर पाबंदी नहीं लगाने की आलोचना की है। उन्होंने कहा कि इस मामले में नाजायज देरी की जा रही है।

आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई कमजोर

सैयद अकबरुद्दीन ने कहा कि जब हमारा यह प्रयास होना चाहिए कि दुनिया के हर कोने में होने वाली आतंकी घटनाओं को रोका जाए तो सुरक्षा परिषद ने आतंकी पर पाबंदी लगाने की याचिका को 9 महीने से लंबित रखा हुआ है। उन्होंने कहा कि काउंसिल को इस बात का फैसला करने में 9 महीने का समय लग गया कि आतंकी संगठन का नेता आतंकी है या नहीं।

चीन ने किया था मसूद का समर्थन

आपको बता दें कि भारत ने मसूद अजहर पर प्रतिंबध लगाने की सुरक्षा परिषद में याचिका दी थी, जिसपर परिषद ने तकनीकी रोक लगा रखी है। इस रोक को हाल ही में चीन ने समर्थन दिया है। छह महीने की वैधानिक रोक सितंबर माह में ही खत्म हो गई थी लेकिन चीन ने इसे तीन महीने के लिए और बढ़वा दिया है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
India takes on UNSC for not banning terrorist Azhar Masood. India says when it should be focus to control terrorism UNSC is taking 9 month to ban a terrorist.
Please Wait while comments are loading...