ग्रैमी अवॉर्ड्स 2017: भारत के संदीप दास जीते, छठी बार ग्रैमी अवॉर्ड पाने से चूक गई अनुष्का शंकर

भारत की मशहूर सितारवादिका अनुष्का शंकर छठी बार ग्रैमी अवॉर्ड पाने से चूक गई हैं। अनुष्‍का शंकर अपने मशहूर एल्‍बम लैंड ऑफ गोल्ड के लिए नामित हुई थीं।

Subscribe to Oneindia Hindi

अमेरिका। भारत की मशहूर सितारवादिका अनुष्का शंकर छठी बार ग्रैमी अवॉर्ड पाने से चूक गई हैं। अनुष्‍का शंकर अपने मशहूर एल्‍बम 'लैंड ऑफ गोल्ड' के लिए नामित हुई थीं। इस एल्‍बम को उन्‍होंने दुनिया में शरणार्थियों की स्थिति और समस्या को ध्‍यान रखकर तैयार किया था। पर वह ज्‍यूरी को प्रभावित नहीं कर पाईं। वहीं इस वर्ष ग्रैमी पुरस्‍कारों में भारत के लिए तबलावादक संदीप दास एक अच्‍छी खबर लेकर आएं हैं। तबलावादक संदीप दास ने यो यो मा के साथ वर्ल्ड म्यूजिक कैटिगरी में संयुक्‍त रूप से ग्रैमी पुरस्‍कार जीता है। संदीप दास और यो यो मा की जोड़ी को उनके म्‍यूजिक एल्‍बम सिंग मी होम के लिए ग्रैमी पुरस्‍कार दिया गया।

ग्रैमी अवॉर्ड्स 2017: भारत के संदीप दास जीते, छठी बार ग्रैमी अवॉर्ड पाने से चूक गई अनुष्का शर्मा

आपको बताते चलें कि सितारवादिका अनुष्का शंकर भी वर्ल्ड म्यूजिक कैटिगरी में ही नामित हुई थीं। अनुष्का मशहूर सितारवादक पंडित रविशंकर की बेटी हैं और अपने फ्यूजन संगीत के लिए पूरी दुनिया में मशहूर हैं। अनुष्का शंकर पहली बार 20 साल की उम्र में ही ग्रैमी अवॉर्ड्स के लिए नामित हो गई थीं। पर वह अभी तक यह ग्रैमी पुरस्‍कार नहीं जीत पाई हैं। वहीं पंडित रविशंकर ने कुल 4 ग्रैमी अपने नाम किए थे। उन्हें 2 बार व्यक्तिगत और 2 बार साझा ग्रैमी पुरस्‍कार मिल चुके हैं।

Read More: महीने से धूल खा रही फाइल, क्‍या बढ़ पाएगी देश के राष्‍ट्रपति प्रणब मुखर्जी की सैलरी?

 

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Grammys 2017 also unlucky for Anoushka Shankar
Please Wait while comments are loading...