कोर्ट ने कहा मुस्लिम लड़कियों को नहीं दी जा सकती छूट, लड़कों संग तैराकी में लेने होगा भाग

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

बर्लिन। जर्मनी की संवैधानिक अदालत ने अपने एक फैसले में कहा है कि धर्म के आधार पर छात्रों को विशेष छूट नहीं दी जा सकती। एक मुस्लिम लड़की के तैराकी की कक्षा से छूट मांगे जाने के लिए की गई अपील पर कोर्ट ने ये बातें कहीं।

bikni

जर्मनी की एक अदालत ने कहा है कि मुस्लिम लड़कियों को भी अपनी स्कूल की तैराकी की कक्षाओं में लड़कों और दूसरी लड़कियों के साथ भाग लेना चाहिए।

अदालत ने कहा कि अगर बिकनी पहनने में दिक्कत है तो बुर्कीनी (पूरे शरीर को ढकने वाला कपड़ा, जो तैराकी के लिए महिलाएं पहनती हैं) पहन कर कक्षाओं में हिस्सा लिया जाए।

लाख समझाने पर भी नहीं माना ब्वॉयफ्रेंड, गर्भवती गर्लफ्रेंड ने उठाया खौफनाक कदम

अदालत ने कहा कि बुर्कीनी में उन्हें नहीं लगता कि किसी धर्म के लिए कोई दिक्कत होना चाहिए या फिर इस पर किसी को आपत्ति होनी चाहिए। अदालत ने कहा कि साथ में सभी क्रिया-कलापों में भाग लेने से बच्चों के बीच मिलाप बढ़ता है।

अदालत ने ये बातें 11 साल की एक मुसलमान छात्रा के परिवार की ओर से दायर एक मामले की सुनवाई के दौरान कही गईं। परिवार ने कहा था कि मुसलमान लड़कियों को तैराकी की कक्षाओं से छूट दी जाए क्योंकि जो ड्रैस तैराकी के लिए पहननी होती है, वो इस्लाम में जायज नहीं ठहराई जा सकती।

कार बंद कर अंदर प्यार में खोया था प्रेमी जोड़ा, मिली दर्दनाक मौत

जर्मनी में हालिया दिनों में बुर्के को लेकर भी बहस छिड़ी हुई है। जर्मनी की चांसलर एंजेला मर्केल ने हाल ही में कहा है कि उनके देश में पूरी तरह से चेहरा ढकने का कोई रिवाज नहीं है।

एंजेला ने कहा कि जर्मनी में अगर मुस्‍लिम महिलाएं बुर्का पहनती हैं तो इस पर विचार किया जाएगा। माना जा रहा है कि जर्मनी में बुर्के पर प्रतिबंध लगाया जा सकता है।

ब्यूटी क्वीन को पति ने पीट-पीटकर किया लहूलुहान, शेयर की दर्दनाक वीडियो

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
German court rules Muslim girls must take part in swimming
Please Wait while comments are loading...