मांस खाने वाला बैक्टीरिया शरीर में घुसा, हुई हॉरर फिल्म जैसी खतरनाक मौत

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। अमेरिका के मैरीलैंड में एक शख्स की मौत मांस खाने वाले खतरनाक बैक्टीरिया की वजह से हो गई। 67 वर्षीय माइकल फंक अपनी पत्नी के साथ मैरीलैंड के ओसीन शहर के पास स्थित असावोमेन खाड़ी में गए थे, जहां वह वाइब्रो वल्निफिकस बैक्टीरिया के संपर्क में आए।

virus

अमेरिका के टॉप कमांडर ने कहा पाक में आजाद है हक्‍कानी नेटवर्क

सेन्टर फॉर डिसीज कंट्रोल के अनुसार हर साल लगभग 80,000 लोग वाइब्रो वल्निफिकस बैक्टीरिया का शिकार होते हैं। अधिकतर लोग इसका शिकार कच्चे या अधपके कवच वाले जीव (जैसे घोंघा) खाने की वजह से होते हैं। इसकी वजह से अधिकतर लोगों को डायरिया हो जाता है और वे लगातार उल्टियां करते हैं।

11 सितंबर को माइकल इस वायरस के शिकार हुए और महज 4 दिनों बाद ही 15 सितंबर को इस वायरस की वजह से उनकी मौत हो गई। बताया जा रहा है कि यह वायरस माइकल के शरीर में पानी से पहुंचा है।

नाबालिग लड़की से दरिंदगी करने वाले को 1500 साल की जेल

जब माइकल का पैर पानी में पड़ा तो उनके पैर में लगी एक चोट से यह वायरस माइकल के शरीर में घुस गया और उनके पैर के मांस को खाना शुरू कर दिया। वायरस कितना खतरनाक था, इसका अंदाजा इसी बात से लगा सकते हैं कि इस वायरस के संपर्क में आने के महज घंटे भर में ही माइकल को परेशानियां होने लगीं।

यह वायरस माइकल के शरीर में तेजी से फैलने लगा। उन्हें उल्टियां शुरू हो गईं और पैर में तेज दर्द होने लगा। कुछ ही दिन में उनका पैर पूरी तरह से घावों से भर गया और गलने लगा। माइकल की पत्नी मार्सिया ने द डेली टाइम्स अखबार को बताया कि वह स्थिति किसी हॉरर फिल्म की तरह लग रही थी।

पेरिस हमले के हमलावरों को जानता था भारत में बैठा ISIS का शख्स

डॉक्टरों ने इलाज शुरू किया और इस वायरस का पता लगा लिया, जिसके बाद माइकल की एक टांग काटनी पड़ी। लेकिन बहुत देर हो चुकी थी। 15 सिंतबर को इस वायरस की वजह से उनकी मौत हो गई।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Flesh Eating Bacteria Infection Kills A Man
Please Wait while comments are loading...