सस्ते में मकान खरीदने के लिए झूठा तलाक लेने उमड़ पड़े सैकड़ों दंपति

Subscribe to Oneindia Hindi

शंघाई अब तक आप यही सुनते आए होंगे कि पति-पत्नी के बीच विवाद होने पर तलाक होता है लेकिन चीन में जब बड़ी संख्या में दंपति तलाक लेने लगे तो मामला कुछ अलग ही निकला। दरअसल दंपति यहां परिवार के फायदे के लिए झूठा तलाक ले रहे हैं।

दरअसल वो रहते तो साथ ही हैं लेकिन सस्ती कीमत पर नया घर खरीदने के चक्कर में वह कानूनी तौर पर एक-दूसरे से तलाक लेते हैं।

शंघाई शहर के तलाक रजिस्ट्रेशन ऑफिस के बाहर इसके लिए लंबी लाइनें लग रही हैं और इसकी तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर की जा रही हैं।

Read Also: चीनी उत्पादों के बहिष्कार अभियान का मूर्ति बाजार में दिखने लगा असर

divorce in china

सस्ता मकान के चक्कर में लोग ले रहे तलाक

शंघाई शहर में किसी परिवार के लिए एक मकान से ज्यादा खरीदना महंगा सौदा होता है। वहां नियम है कि दूसरा मकान खरीदने के लिए डाउनपेमेंट के तौर पर 70 परसेंट राशि देनी पड़ती है। जबकि पहला मकान खरीदते समय सिर्फ 30 परसेंट डाउनपेमेंट देना होता है।

इसलिए दूसरा मकान सस्ते में खरीदने के चक्कर में दंपति झूठा तलाक लेते हैं ताकि डाउनपेमेंट के तौर उनको सिर्फ 30 प्रतिशत राशि देनी पड़े। इसके लिए वह कागज पर कानूनी तौर से एक-दूसरे से अलग होते हैं लेकिन असल में वे साथ ही रहते हैं। सिर्फ मकान खरीदने के लिए वे तलाक ले रहे हैं।

रजिस्ट्रेशन ऑफिस के बाहर लगी लंबी लाइन

शंघाई शहर में यह अफवाह फैली कि सरकार दूसरा मकान खरीदने के लिए और कड़े नियम बनाने वाली है तो तलाक रजिस्ट्रेशन ऑफिस पर लोग टूट पड़े। इतनी लंबी लाइन लगी कि तलाक लेने आए लोगों को ऑफिस कर्मचारी ने अगले दिन आने को कहकर लौटाया।

ऑफिस में आई एक युवती का कहना था, 'तलाक के लिए मैं अपने मां-बाप की मदद करने के लिए यहां आई हूं। उनके लिए मकान खरीदना है और हमारे पास ज्यादा पैसे नहीं है। इस तलाक से डाउनपेमेंट का पैसा बच जाएगा।'

पति के साथ तलाक लेने आई गर्भवती महिला

ऑफिस में तलाक लेने आई एक गर्भवती महिला को जब कर्मचारी ने कहा कि पेट की वजह से उनको तलाक मिलने में दिक्कत आ सकती है तो वह जोर-जोर से रोने लगी। वह कहने लगीं, 'हमारे पास और कोई रास्ता नहीं है।' महिला का कहना था कि बच्चे की वजह से अब वह टू बेडरूम सेट के बदले तीन बेडरूम सेट का मकान खरीदना चाहती है।

शंघाई ऑथोरिटी ने अफवाहों पर दी सफाई

शंघाई में एक तरफ तलाक के मामले बढ़े तो दूसरी तरफ मकान खरीदने के ट्राजेक्शन्स में भी बढ़ोतरी होने लगी।

तलाक लेनेवालों की भीड़ को देखते हुए शंघाई में हाउसिंग से जुड़े अधिकारियों ने अफवाहों पर विराम लगाने की कोशिश करते हुए कहा है कि घर खरीदने के लिए नए लिमिट्स लगाए जाने की सूचना गलत है।

Read Also: 18 साल की युवती ने कहा- नहीं मानूंगी तीन तलाक की व्यवस्था, क्यों चल रहा है ये भारत में?

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Hundreds of Couples in Shanghai city of China are giving divorce to buy a new house on cheap rate.
Please Wait while comments are loading...