जब तक भारतीय सेना नहीं हटती पीछे, चीन नहीं करेगा बातचीत

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। काफी दिनों से सिक्किम सेक्टर में सीमा पर भारत और चीन के बीच तनाव की स्थिति बनी हुई है। इस मामले में चीन का कहना है कि जब तक भारतीय सेना पीछे नहीं हटेगी, तब तक बातचीत का कोई सवाल नहीं उठता है। जहां एक ओर चीनी मीडिया की तरफ से युद्ध के विकल्प की बात की गई है, वहीं दूसरी ओर भारत में चीन के राजदूत लू झाओहुई ने कहा है कि यह भारत पर निर्भर करेगा कि सैन्य विकल्प का इस्तेमाल होगा या फिर नहीं।

जब तक भारतीय सेना नहीं हटती पीछे, चीन नहीं करेगा बातचीत

चीन ने इस गंभीर स्थिति से निपटने का जिम्मा नई दिल्ली को सौंप दिया है। चीन के राजदूत लू झाओहुई के अनुसार गेंद भारत के पाले में है और इस स्थिति से निपटने के लिए भारत को ही कोई कदम उठाना होगा। आपको बता दें कि चीन का सरकारी मीडिया ने कहा था कि अगर इस विवाद से सही तरीके से नहीं निपटा जाएगा, तो इससे युद्ध भी छिड़ सकता है।

ये भी पढ़ें- भारतीय पीएम के सम्मान में इजराइल ने इस फूल का नाम रखा 'मोदी'

चीन के राजदूत लू झाओहुई के अनुसार चीन इस मामले का शांति पूर्ण तरीके से समाधान करना चाहता है, लेकिन इसके लिए चीन की शर्त है कि भारत अपने सैनिकों को वापस बुलाए। चीन तभी कोई बातचीत करेगा, जब भारतीय सैनिक सीमा से पीछे हटेंगे। डोका ला में चीन की तरफ से सड़क बनाने की कोशिश के बाद से ही भारत और चीन के सैनिकों के बीच पिछले करीब 19 दिनों से विवाद चल रहा है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
China Says Doklam Situation 'Grave', Rules Out Compromise
Please Wait while comments are loading...