ब्रिटिश पीएम मे ने भारत आने से पहले कश्‍मीर पर दिया बड़ा बयान

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

लंदन। ब्रिटेन की प्रधानमंत्री थेरेसा मे छह नवंबर को भारत आने वाली हैं। मे ने भारत आने से पहले कश्‍मीर पर एक अहम बयान दिया है। मे ने कहा है कि कश्‍मीर पर यूनाइटेड किंगडम (यूके) के रुख में कोई बदलाव नहीं हुआ है। आज भी यूके कश्‍मीर को भारत और पाकिस्‍तान के बीच का आपसी मसला मानता है और दोनों देशों को ही करना होगा।

theresa-may-british-pm-kashmir.jpg

पाक में जन्‍मी सांसद ने किया सवाल

मे ने यह बात उस समय कही जब पीएम बुधवार को हाउस ऑफ कॉमंस में हर हफ्ते होने वाले सवाल-जवाब के सत्र के दौरान कही।

पाक में जन्‍मीं लेबर पार्टी की सांसद यास्‍मीन कुरैशी की ओर से यह मसला उठाया गया था। कुरैशी ने पूछा था कि क्‍या मे भारत की अपनी यात्रा के दौरान कश्‍मीर मुद्दे को अलग से उठाएंगी?

पढ़ें-ब्रिटिश पीएम थेरेसा मे के बारे में खास बातें 

मे के एजेंडे से बाहर कश्‍मीर

मे ने कहा कि जब से उनकी सरकार सत्‍ता में आई है तब से ही वह इस मुद्दे पर एक ही नजरिया रखा है।

मे ने कहा कि पहले की तरह आज भी ब्रिटेन मानता है कि कश्‍मीर भारत और पाक के बीच का मसला और दोनों देशों को इसका हल आपस में ही निकालना होगा।

मे ने अपने इस बयान से साफ कर दिया है कि छह और आठ नवंबर को जब वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ द्विपक्षीय वार्ता करेंगी तो कश्‍मीर उनके एजेंडे में नहीं होगा।

पढ़ें-मे कभी भी परमाणु हमले में ले सकती हैं लोगों की जान!

कौन हैं कुरैशी

कुरैशी नॉर्थ-वेस्‍ट इंग्‍लैंड के संसदीय क्षेत्र बोलटॉन से सांसद हैं। कुरैशी ने यह सवाल भी किया था कि क्या ब्रिटिश पीएम कश्‍मीर में हो रहे मानवाधिकारों के हनन पर भी बात करेंगी और क्‍या वह यूनाइटेड नेशंस के वर्ष 1948 के रेजॉल्‍यूशन और कश्‍मीर पर पीएम मोदी से चर्चा करेंगी?

पढ़ें-कश्‍मीर की शांति लौटाने के लिए दो शर्तें

मे की पहली विदेश यात्रा

प्रधानमंत्री बनने के बाद यह मे की पहली विदेश यात्रा है। छह नवंबर को भारत आने के बाद मे पीएम मोदी के साथ इंडिया-यूके टेक समिट का उद्घाटन करेंगी।

इसके बाद पीएम मोदी से उनकी द्विपक्षीय मुलाकात होगी और फिर वह बेंगलुरु रवाना हो जाएंगी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
British Prime Minister Theresa May will be in India on 6th November. Before her arrival to India, May has said that Kahshmir is a matter for India and Pakistan.
Please Wait while comments are loading...