राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप के ऑफिस में 7 दिन, पांच विवादित और बड़े फैसले

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

वॉशिंगटन। अमेरिकी राष्‍ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप ने आठ नवंबर को चुनाव जीतने के बाद 20 जनवरी को अपने पद की शपथ ली। शपथ लेने के एक हफ्ते के अंदर ही राष्‍ट्रपति ट्रंप ने एक दो नहीं बल्कि पांच ऐसे फैसले लिए हैं, जो काफी विवादित साबित हो रहे हैं। ये फैसले न केवल विवादित हैं बल्कि इन फैसलों की वजह से अमेरिका की एक अलग ही छवि दुनिया के सामने आ रही है।

नए फैसले से मची अमेरिका में हलचल

राष्‍ट्रपति ट्रंप ने शुक्रवार को एक हफ्ते वाले अपने कार्यकाल का सबसे विवादित फैसला लिया जब उन्‍होंने सात मुसलमान देशों से आने वाले मुसलमान शरणार्थियों को अमेरिका में एंट्री देने से इंकार कर दिया। एक एग्जिक्‍यूटिव ऑर्डर पर साइन करके राष्‍ट्रपति ने अमेरिका की शरणार्थियों के लिए बनी नीति में बदलाव किया। इस बदलाव के साथ ही उन्‍होंने सात मुसलमान देशों सीरिया, सूडान, सोमालिया, इरान, इराक, लीबिया और यमन के शरणार्थियों को बैन कर दिया। राष्‍ट्रपति ने यह जरूर कहा है कि यह बैन मुसलमानों के खिलाफ नहीं है लेकिन उनके बयान से पहले ही अमेरिका में एक अजीबो-गरीब स्थिति पैदा हो गई है। एयरपोर्ट्स पर भीड़ जमा है और अब तक 100 से 200 लोगों को हिरासत में लिया जा चुका है। आइए आपको बताते हैं राष्‍ट्रपति ट्रंप के एक हफ्ते में लिए गए पांच विवादित फैसलों के बारे में। 

सात मुसलमान देश बैन

सात मुसलमान देश बैन

अमेरिका से चरमपंथी इस्‍लामिक आतंकवाद का सफाया करने के मकसद से उन्‍होंने सात मुसलमान देशों से आने वाले मुसलमान शरणार्थियों को बैन कर दिया। राष्‍ट्रपति ट्रंप ने यह कदम अमेरिकी शरणार्थी पुर्नवास कार्यक्रम को स्‍थगित करके उठाया है। ट्रंप ने अमेरिका के शरणार्थी कार्यक्रम को 120 दिनों के लिए स्‍थगित कर दिया है। इसके अलावा सीरिया, इरान, इराक, लीबिया, सोमालिया, यमन और सूडान के शरणार्थियों या फिर पर्यटकों को अगले 90 दिनों तक कोई वीजा नहीं दिया जाएगा।

पाकिस्‍तान पर भी लग सकता है बैन

पाकिस्‍तान पर भी लग सकता है बैन

व्हाइट हाउस के स्टाफ प्रमुख राइंस प्रिबस ने इस बात की ओर इशारा किया है कि आने वाले दिनों में सात मुसलमान देशों लिस्ट में पाकिस्तान का नाम भी शामिल किया जा सकता है। उन्होंने यह भी माना है कि ऐसा पहली बार है, जब ऐसे देशों की लिस्ट में पाकिस्तान को शामिल किए जाने पर विचार हो रहा है। इससे पहले न्‍यूज चैनल एबीसी को दिए अपने इंटरव्‍यू में राष्‍ट्रपति ट्रंप ने भी इस तरफ इशारा किया था।

भारत समेत 50 देशों में अब राजदूत नहीं

भारत समेत 50 देशों में अब राजदूत नहीं

राष्‍ट्रपति ट्रंप ने कुर्सी संभालते ही एक दो नहीं बल्कि 50 देशों के राजदूतों को वापस बुला लिया। पूर्व राष्‍ट्रपति बराक ओबामा की ओर से इन राजदूतों की नियुक्ति की गई है। राष्‍ट्रपति ट्रंप की ओर से जारी आदेश में कहा गया कि सभी राजदूत अमेरिकी समयानुसार 20 जनवरी तक अपना ऑफिस छोड़। फिलहाल भारत, चीन, जर्मनी, कनाडा, जापान, सऊदी अरब जैसे देश में अमेरिकी दूतावास बिना राजदूत के काम कर रहे हैं।

मैक्सिको सीमा पर बनेगी 3200 किमी लंबी दीवार

मैक्सिको सीमा पर बनेगी 3200 किमी लंबी दीवार

बुधवार को राष्‍ट्रपति ट्रंप ने अपने एक और चुनावी वादे को पूरा करने की ओर कदम बढ़ाए जब उन्‍होंने अमेरिका-मैक्सिको सीमा पर दीवार बनाने के लिए जरूरी दस्‍तावेजों का साइन कर डाला। इसके अलावा राष्‍ट्रपति ट्रंप ने जल्‍द से जल्‍द इस प्रोजेक्‍ट को शुरू करने का आदेश दिया है। इस दीवार को बनाने में एक लाख करोड़ से भी ज्‍यादा का खर्च आएगा।

टीपीपी से अमेरिका को किया बाहर

टीपीपी से अमेरिका को किया बाहर

राष्ट्रपति ट्रंप ने डोनाल्ड ट्रंप ने एक व्यापार समझौते ट्रांस पैसिफिक पार्टनरशिप (टीपीपी) से बाहर निकलने के दस्तावेज पर साइन किए। इस पार्टनरशिप को पूर्व राष्‍ट्रपति बराक ओबामा ने साइन किया था। इसका मकसद एशियाई क्षेत्र में चीन के दबदबे को कम करना और सिंगापुर जैसे 12 देशों के साथ फ्री ट्रेड को बढ़ावा देना था।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Banning Muslims entry in US here are 5 controversial decisions by President Donald Trump.
Please Wait while comments are loading...