पिज्जा के प्यार में आतंकी ने छोड़ा इस्लामिक स्टेट का साथ

Subscribe to Oneindia Hindi

अमेरिका आतंकी संगठन इस्लामिक स्टेट का साथ देता आ रहा एक अमेरिकी युवक अब इस आतंकी संगठन को छोड़ कर सीधे रास्ते पर चलना चाहता है। आईएसआईएस छोड़ने का कारण है उस युवक का पिज्जा के लिए प्यार। उसने कहा है कि अब उसके मन में आतंकी बनने का कोई ख्याल नहीं है।

isis

इस शख्स का नाम है इमरान रब्बानी, जिसकी उम्र 17 साल है। इमरान ने कहा कि अब वह अपना ध्यान आतंक के रास्ते से हटाकर किचन की ओर मोड़ रहा है। आपको बता दें कि जब इमरान ने ये फैसला किया उससे एक दिन पहले ही उसे आतंकवाद विरोधी जासूस को धमकाने का दोषी पाए जाने के चलते 20 महीने जेल की सजा सुनाई गई थी।

इराक: समलैंगिक युवक को खतरा बताते हुए ISIS आतंकियों ने सबसे ऊंची बिल्डिंग से नीचे फेंका

जब कोर्ट में उसका ट्रायल चल रहा था, तो उसने जज से कहा कि आईएसआईएस के द्वारा आतंकी बनाए गए सलेह नाम के व्यक्ति के साथ समय बिताते-बिताते उसे लगा जैसे कि उसने अपनी पहचान खो दी है। इसके बाद उसने आईएसआईएस छोड़ने का फैसला किया।

आईएसआईएस का आतंक बढ़ने के लिए ट्विटर नहीं है जिम्मेदार

रब्बानी बोला कि वह अपना पिछला जीवन नहीं बदल सकता है, लेकिन उसने अपनी बीती जिंदगी में किए गए कामों की जिम्मेदारी लेते हुए कहा कि अब तक की जिंदगी से उसने बहुत कुछ सीखा है। उसने जज से कहा कि अब वह खाना बनाने की कला, खासकर पिज्जा बनाने में पूरा ध्यान लगाना चाहता है। साथ ही वह बोला कि अब वह अपनी पढ़ाई जारी रखना चाहता है और भविष्य में अपना एक रेस्टोरेंट भी खोलना चाहता है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
an american teenager left isis for the love of pizza. he said that now he would no more think of becoming a terrorist.
Please Wait while comments are loading...