पांच साल तक बिना खाए दर्दनाक जिंदगी जीती रही यह महिला, संयोग से मिला इलाज

Subscribe to Oneindia Hindi

कैलिफोर्निया। मैकेंजी हाइल्ड के पेट में एक दिन अचानक ऐसा दर्द शुरू हुआ जिसने उसको अगले पांच साल तक कुछ भी खाने नहीं दिया। वह खाना चाहती थी लेकिन खा नहीं पाती थी।

वह लगातार इस बीमारी के इलाज के लिए डॉक्टरों से मिलती रही लेकिन पांच सालों तक पता ही नहीं चला कि उसको हुआ क्या है? फिर संयोग से उसके मां-बाप की मुलाकात एक शख्स से हुई और रहस्यमय बीमारी का इलाज मिल गया।

READ ALSO: VIRAL VIDEO: जब रनवे पर खड़े विमान को प्लेन में मारी जोरदार टक्कर

abdominal pain

न खाने की वजह से हुआ जानलेवा वेटलॉस

26 साल की मैकेंजी कुछ खा नहीं पाती थी जिस वजह से उनका काफी वेट लॉस हो गया था। वह कहती है, 'डॉक्टर यही बताते थे कि जांच में किसी बीमारी का पता नहीं चला। तुम नॉर्मल हो।' लेकिन मैंकेंजी नॉर्मल नहीं थी।

मैकेंजी ने बताया, 'मैंने अमेरिका के कई बड़े और नामी हॉस्पिटल में इलाज कराया लेकिन डॉक्टर मेरी बीमारी को खोज नहीं पाए। इलाज के दौरान मेरा गोल ब्लाडर भी ऑपरेशन करके हटाया गया लेकिन फिर भी दर्द कम न हुआ। मुझे कभी-कभी शक होता था कि कहीं यह शारीरिक समस्या के बजाय मेरी मनोवैज्ञानिक समस्या तो नहीं।'

ट्यूब के जरिए खाना अंदर पहुंचाती रहीं मैकेंजी

मैकेंजी निराश हो चुकी थी। वह मान चुकी थी कि उनके पेट दर्द का इलाज अब असंभव है। इसलिए वह इसे सहते हुए कॉलेज की पढ़ाई के साथ-साथ अन्य काम किसी तरह करती रही। एक ट्यूब के जरिए उनके अंदर थोड़ा बहुत खाना पहुंचता था जिस वजह से पांच साल तक उसकी जान बची रही।

संयोग से मिला मैकेंजी को अपनी बीमारी का इलाज

पांच साल बाद मैकेंजी के मांं-बाप की मुलाकात कैलिफोर्निया के सियरा नेवादा के दूर दराज इलाके में हाइकिंग करते समय एक मेडिकल प्रोफेसर से हुई। उन्होंने उनकी बेटी की बीमारी के बारे में गौर से सुना।

प्रोफेसर ने वापस आकर अपनी एक मेडिकल स्टूडेंट को मैकेंजी की बीमारी की फाइल देखने को कहा। बहुत मशक्कत के बाद उस स्टूडेंट ने एक क्लू निकाला और शिकागो के एक सर्जन से मिली।

इसके बाद उस सर्जन ने मैकेंजी का ढ़ाई घंटे का एक ऑपरेशन किया और वह आश्चर्यजनक तरीके से ठीक हो गई।

मैकेंजी को कौन सी बीमारी थी?

पांच साल बाद मैकेंजी की जिस बीमारी का पता चला उसका नाम है - मीडियन आर्क्यूएट लिगामेंट सिंड्रोम। इस बीमारी का पता लगभग 100 साल पहले चला था। यह बीमारी पेट के एक अंग मीडियन आर्क्यूएट लिगामेंट से जुड़ी है। इस अंग में ऊतकों का एक बैंड होता है।

इस बैंड में ऊतक एक दूसरे से जुड़े होते हैं और यह पेट में डायफ्राम के नीचे से आओर्टा तक फैला होता है। जब मीडियन आर्क्यूएट लिगामेंट, पेट और वहां अन्य अंगों तक खून पहुंचाने वाली सीलिएक आर्टरी को कंप्रेस करता है तो दर्द होता है। यही बीमारी मैकेंजी को थी।

READ ALSO: मात्र 1,200 रुपए वेतन पाने वाला गांव का आदमी निकला करोड़पति

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A woman from California did not eat for five years because she was suffering from mysterious abdominal pain. After five years she got the right cure of her disease.
Please Wait while comments are loading...