कश्मीर से 80 युवक गायब, हिज्बुल और लश्कर में शामिल होने की आशंका

Subscribe to Oneindia Hindi

श्रीनगर। कश्मीर के दक्षिणी इलाके से पिछले दो महीनों में 80 युवक कहां लापता हो गए, कुछ पता नहीं चल पा रहा है। पुलवामा, कुलगाम, शोपियां और अनंतनाग से 80 युवकों के गायब होने की खबर है। इनके आतंकी संगठनों में शामिल होने की आशंका है।

READ ALSO: सात दिन के अंदर शांति बहाली के लिए क्या है राजनाथ सिंह का 'कश्मीर प्लान'

terrorist

हिज्बुल और लश्कर में जा सकते हैं युवा

सुरक्षा एजेंसियों को मिली खुफिया सूचनाओं से यह संकेत मिले हैं कि गायब हुए युवक आतंकी संगठन हिज्बुल मुजाहिदीन और लश्कर ए तैयबा में शामिल होने के लिए गए हैं।

बुरहानी वानी के मारे जाने के बाद शुरू हुए हिंसक प्रदर्शनों के दौरान सुरक्षा एजेंसियों को आतंकी संगठनों के रेडियो मैसेज से संकेत मिले कि लगभग 50-60 युवक हिज्बुल मुजाहिदीन और करीब 15-20 युवक लश्कर ए तैयबा में शामिल होने के लिए गए हैं।

इस बारे में अभी सुरक्षा एजेंसियों के पास पुख्ता सूचना नहीं कि कुछ स्पष्ट कहा जा सके। लेकिन वरिष्ठ अधिकारी यह बात स्वीकार करते हैं कि कश्मीर के ग्रामीण इलाकों में क्या स्थिति है, इस बारे में कम सूचनाएं हैं।

दक्षिणी कश्मीर के इलाकों में भेजे जा रहे हैं सुरक्षाबल

अधिकारियों का कहना है कि अब तक कश्मीर में पुलिस और सुरक्षाबल का ध्यान कानून व्यवस्था बहाल करने की तरफ ज्यादा रहा इस वजह से खुफिया सूचनाओं पर ढंग से काम नहीं हो पाया। अब ग्रामीण क्षेत्रों में भी सुरक्षाबलों को स्थिति का जायजा लेने के लिए फिर से भेजा जा रहा है।

दक्षिणी कश्मीर के गांव हैं आतंकियों के गढ़

दक्षिणी कश्मीर के ग्रामीण क्षेत्रों में आतंकियों का प्रभाव ज्यादा है। विरोध प्रदर्शनों में इन्हीं लोगों को उकसाकर हजारों की भीड़ जुटा ली जाती है। आतंकी बनने के लिए गायब हुए युवक इन्हीं इलाकों से हैं। इनमें ज्यादातर पुलवामा से हैं।

READ ALSO: जम्मू कश्मीर: मारे गए 7 आतंकी, 3 घुसपैठ की कोशिशें नाकाम

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Eighty youths are missing from villages of South Kashmir and they are suspected to join militant groups.
Please Wait while comments are loading...