छत्तीसगढ: 18 साल से सिर्फ काली चाय पीकर जिंदा है ये महिला, डॉक्टर भी हैरान

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

रायपुर। छत्तीसगढ़ के कोरिया जिले में रहने वाली एक महिला का दावा है कि वह बीते 18 साल से सिर्फ काली चाय पीकर जिंदा है। शारीरिक तौर पर पूरी तरह स्वस्थ इस महिला को देखकर डॉक्टर भी हैरान हैं और इसे किसी चमत्कार से कम नहीं मान रहे।

black tea

48 वर्षीय पीली बाई ने 18 साल पहले तब खाना छोड़ दिया था जब उसे पढ़ने के लिए घर से दूर पटना भेजा गया। उसने तभी से कुछ नहीं खाया। वह दिन में दो से तीन कप काली चाय पीकर ही रहती है। परिवार के लोग उसे कई बार डॉक्टर के पास ले गए लेकिन उसकी आदत में कोई सुधार नहीं हुआ. डॉक्टरों ने उसे पूरी तरह स्वस्थ बताया।

पढ़ें: 'बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ' अभियान की ब्रांड एंबेसडर बनीं साक्षी

सिर्फ एक दिन के लिए हुई शादी

साल 1995 में पीली बाई की शादी भी हुई, लेकिन एक ही दिन बाद उसके ससुरालवालों ने उसे वापस घर भेज दिया। ससुरालवालों का कहना था कि वह ऐसी लड़की को अपने घर में नहीं रख सकते जो हर समय उपवास ही रखती हो। उन्होंने कहा था कि वह मानसिक रूप से सही नहीं है। हालांकि उसका पति अभी भी अक्सर उससे मिलने घर आता है।

डॉक्टरों ने पाया पूरी तरह स्वस्थ

टाइम्स ऑफ इंडिया के मुताबिक, एक निजी अस्पताल के डॉ. राकेश शर्मा ने इसे चमत्कार करार देते हुए कहा कि पीली बाई ने इतने सालों से कुछ नहीं खाया फिर भी उसका शरीर पूरी तरह स्वस्थ है। उसका वजन अभी भी 45 किलो है। उन्होंने कहा, 'मैंने जांच के लिए उसे एक हफ्ते तक अस्पताल में एडमिट भी किया, लेकिन मैं हैरान था कि पूरे समय वह ब्लैक टी पीकर भी स्वस्थ थी।'

पढ़ें: एचआईवी पॉजिटिव निकला लड़का, लड़की ने शादी से किया इंकार

डॉ. शर्मा ने कहा कि वैज्ञानिक तौर पर यह संभव नहीं है कि कोई ब्लैक टी पीकर इतने सालों तक जिंदा रह सके। उसे कुछ एनर्जी मेडिसिन इंजेक्शन के जरिए दी गई हैं, क्योंकि बीते कुछ समय से वह कमजोर दिखने लगी, जिस पर उसके घरवाले परेशान थे। अस्पताल में उसे 'ब्लैट टी वूमन' के नाम से जाना जाता है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Woman in Chhattisgarh surviving on black tea for past 18 years. She has not eaten a morsel for 18 years says her family.
Please Wait while comments are loading...