महज 100 रुपए और 1 प्लेट मटन बिरयानी के लिए लड़की ने लगाई 42 बसों में आग!

Subscribe to Oneindia Hindi

बेंगलुरु। 12 सितंबर को  कावेरी जल विवाद को लेकर बेंगलुरु में हुए प्रदर्शन के दौरान 42 बसों को जलाने के मामले में पुलिस ने एक 22 वर्षीय युवती सी भाग्य को गिरफ्तार किया था। पुलिस का कहना था कि इसी लड़की के कहने पर भीड़ ने एक साथ 42 बसों को आग के हवाले कर दिया। उस लड़की ने ऐसा क्यों किया, इस बारे में अब एक हैरत-अंगेज बात सामने आयी है।

क्या है कावेरी विवाद, जानें क्यों मचा है हंगामा?

टाइम्सऑफ इंडिया में छपी खबर कह रही है कि महज 100 रूपए और एक प्लेट मटन बिरयानी के लिए सी भाग्य नाम की लड़की ने इतना उत्पात मचा दिया। भाग्य की मां ने मीडिया से कहा कि कुछ लोगों ने उसकी बेटी से कहा था कि अगर वो आगजनी में मदद करेगी तो वो उसे मटन बिरयानी और 100 रूपए देंगे। हम लोग बहुत गरीब हैं इसलिए मेरी बेटी उन लोगों के झांसे में आ गयी और आगजनी में शामिल हो गयी।

इन परंपराओं में छुपा है स्वस्थ, सुंदर और जवां दिखने का राज...

फिलहाल भाग्य अभी भी पुलिस कस्टडी में है, सीसीटीवी फुटेज के आधार पर वो गिरफ्तार हुई है और पुलिस अभी भी उससे पूछताछ कर रही है। पुलिस उससे उन लोगों के बारे में जानने की कोशिश कर रही है ,जिसने उसे मटन बिरयानी और 100 रूपए का ऑफर दिया था और कावेरी विवाद के नाम पर शहर में हिंसा और तोड़-फोड़ की थी।

वीडियो जारी कर बोले केजरीवाल, मच्छरों को नहीं पता कि कौन कांग्रेस का है और कौन बीजेपी का!

 पुलिस का कहना है कि इसी लड़की के कहने पर भीड़ ने एक साथ 42 बसों को आग के हवाले कर दिया था। सीसीटीवी फुटेज में साफ दिख रहा है कि भाग्य ने लोगों को गाड़ियों मे आग लगाने के लिए उकसाया था और कुछ गाड़ियों पर उसने खुद डीजल डाला था।

#Uri Terror Attack: सेना की वर्दी में थे आतंकी, जैश पर शक

आरोपी भाग्य की आर्थिक स्थिति बेहद कमजोर है। ऐसे में वह अपने लिए कोई वकील करने की स्थिति में नहीं हैं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A 22-year-old woman suspected to have instigated the arson attack on 42 buses of a Tamil Nadu-based operator in Bengaluru last week was allegedly offered Rs 100 and a plate of biryani to join the protests over Cauvery water-sharing.
Please Wait while comments are loading...