भारतीय क्रिकेट के दूसरे धोनी, मिलिए नए स्टार विकेटकीपर बल्लेबाज से

रणजी ट्रॉफी में एक ही इनिंग में ठोंक दिए 273 रन। खतरनाक पिचों पर किया जबर्दस्त बल्लेबाजी का प्रदर्शन।

Subscribe to Oneindia Hindi

दिल्ली। भारतीय क्रिकेट में झारखंड से एक नया सितारा उभरा है। 18 साल के ईशान किशन ने रणजी ट्रॉफी में एक इनिंग में 336 बॉल पर 273 रन ठोंककर खूब वाहवाही बटोरी है और वह चर्चा में आ गए हैं।

झारखंड की अंडर 19 टीम का यह बल्लेबाज विकेटकीपर भी है इसलिए उनको दूसरा धोनी माना जा रहा है। ईशान भी महेंद्र सिंह धोनी को अपना आदर्श मानते हैं।

Read Also: रणजी ट्रॉफी: महाराष्ट्र के दो बल्लेबाजों ने बनाया सबसे बड़ा रिकॉर्ड

धोनी के बाद झारखंड का नाम करने वाले दूसरे खिलाड़ी

झारखंड के बैट्समैन एम एस धोनी ने बैट्समैन और कप्तान के तौर पर बड़ा योगदान दिया है। वह विकेटकीपिंग भी करते हैं। झारखंड के अंडर 19 टीम के कैप्टन ईशान किशन उन्हीं की तरह विकेटकीपर बल्लेबाज हैं।

ईशान किशन ने इस साल रणजी ट्रॉफी में जबरदस्त बल्लेबाजी का प्रदर्शन किया। उन्होंने लंबी पारी खेलकर अपनी क्षमता को दिखाते हुए 336 गेंदों पर 273 रन जमा दिए।

14 छक्के लगाकर रणजी रिकॉर्ड की बराबरी

रणजी ट्रॉफी में खेली गई लंबी पारी में क्रिकेटर ईशान किशन ने 14 छक्के और 21 चौके जड़ दिए। इस तरह से उन्होंने रणजी क्रिकेट में सबसे ज्यादा छक्के मारने के रिकॉर्ड की बराबरी कर ली। इसके बाद वह चर्चित हो गए।

इससे पहले 1990 में हिमाचल प्रदेश के रणजी खिलाड़ी शक्ति सिंह ने 14 छक्के लगाकर 128 रन बनाए थे।

खतरनाक पिचों पर दिखाई ताकत

इससे पहले भी ईशान किशन बल्लेबाजी के लिए खतरनाक पिचों पर अपनी ताकत दिखा चुके हैं। 2015 में उन्होंने स्पिनरों को मदद कर रही रोजकोट की पिच पर गेंदों की खूब धुनाई की थी और 69 गेंदों पर 87 रन बना दिए थे।

ईशान की एक और खूबी है कि उनको बल्लेबाजी में जिस नंबर पर भी भेजा गया उन्होंने अच्छे खेल का प्रदर्शन किया। अंडर 19 टीम के कोच राहुल द्रविड़ खिलाड़ियों के क्रम और कप्तानी में फेरबदल कर सभी खिलाड़ियों को आजमाते रहते हैं।

ईशान के खेल से राहुल द्रविड़ बहुत प्रभावित हैं और उनकी प्रशंसा करने से नहीं चूकते। उनका कहना है कि ईशान का खेल देखकर वह हैरत में हैं।

कोच द्रविड़ उनकी क्षमता से बेहद प्रभावित

ईशान की क्षमता को देखकर ही कोच राहुल द्रविड़ की सिफारिश पर सेलेक्शन कमेटी ने उनको अंडर 19 वर्ल्ड कप का कैप्टन बनाया। वर्ल्ड कप मेें ईशान की कप्तानी में टीम फाइनल में पहुंची।

क्रिकेट करियर में ईशान को आगे बढ़ाने में भाई राज किशन का बड़ा योगदान है। पढ़ाई में मन नहीं लगाने की वजह से पटना में दिल्ली पब्लिक स्कूल ने ईशान को स्कूल से निष्काषित कर दिया था। क्रिकेट ईशान का जुनून है, जिसकी बदौलत वह आज वह एक मुकाम पर पहुंचे हैं।

उनकी क्षमता की वजह से ईशान के साथ सिएट कंपनी ने एक करोड़ रुपए का करार किया। वह तीन साल तक सिएट लिखे हुए बल्ले से खेलेंगे। आईपीएल में ईशान सुरेश रैना की कप्तानी वाले गुजरात लायंस टीम में हैं।

Read Also: एक क्रिकेट सीरीज के बाद ही बड़ा स्‍टार बन गया टैक्‍सी ड्राइवर का यह बेटा, PM हुईं मेहरबान

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Captain of Under 19 Jharkhand cricket team Ishan Kishan is new hope for Indian cricket who scored 273 runs in 336 balls.
Please Wait while comments are loading...