नाभा जेलब्रेक: पढ़िए, कितना खूंखार है खालिस्तानी चीफ हरमिंदर सिंह मिंटू?

यूरोप और दक्षिण-पूर्व एशिया में फैला है इंटरनेशनल टेररिस्ट और खालिस्तान लिबरेशन फोर्स के मुखिया हरमिंदर सिंह मिंटू का नेटवर्क।

Subscribe to Oneindia Hindi

नाभा। पंजाब के नाभा जेल से खालिस्तान लिबरेशन फोर्स का खूंखार आतंकी सरगना हरमिंदर सिंह मिंटू भाग निकला। उसके साथ पांच खतरनाक गैंगस्टर जेल से फरार हो गए और पंजाब के इस हाई सिक्योरिटी जेल की पोल खुल गई। सुबह-सुबह करीब 10 हमलावरों ने सुनियोजित तरीके से इस जेलब्रेक को अंजाम दिया।

पढ़ें: नाभा जेल से भागे खालिस्तानी आतंकी हरमिंदर सिंह मिंटू को दिल्ली पुलिस ने दबोचा

harminder singh mintoo

2014 में हुआ था खालिस्तानी चीफ गिरफ्तार

पंजाब पुलिस ने दिल्ली के इंदिरा गांधी इंटरनेशनल एयरपोर्ट से 2014 के नवंबर में थाइलैंड से आ रहे खालिस्तानी चीफ हरमिंदर सिंह मिंटू को गिरफ्तार किया था।

कम से कम 10 आतंकी घटनाओं में हरमिंदर शामिल

कम से कम 10 आतंकी घटनाओं में खालिस्तानी आतंकी सरगना हरमिंदर सिंह मिंटू को पुलिस तलाश रही थी। 2008 में डेरा सच्चा सौदा गुरमीत राम रहीम सिंह पर हमला और 2010 में लुधियाना के पास हलवारा एयरफोर्स स्टेशन के पास विस्फोटकों की बरामदगी केस में हरमिंदर सिंह मिंटू शामिल बताया जाता है। पंजाब में शिवसेना के तीन नेताओं की हत्या की साजिश रचने के केस में भी वह वांछित था।

पहले बब्बर खालसा का आतंकी था हरमिंदर

खालिस्तान लिबरेशन फोर्स का मेंबर बनने से पहले 49 साल का हरमिंदर सिंह मिंटू, आतंकी संगठन बब्बर खालसा का सदस्य था जिसका लीडर वाधवा सिंह था। बाद में बब्बर खालसा से अलग हुए खालिस्तान लिबरेशन फोर्स का वह चीफ बन गया।

पाकिस्तान के आईएसआई से रहा है संबंध

भारत की सुरक्षा एजेंसियों का कहना है कि पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई के साथ भी हरमिंदर सिंह मिंटू जुड़ा रहा है। आईएसआई से हरमिंदर ट्रेनिंग ले चुका है और आतंकी गतिविधियों को अंजाम देने के लिए उसे फंड की भी मदद मिली। वह कई बार पाकिस्तान जा चुका है।

आईएसआई के पैसों पर ही हरमिंदर 2010 और 2013 में यूरोप गया। वहां इटली, बेल्जियम, जर्मनी, फ्रांस और दूसरे देशों में उसने वैसे लोगों से संपर्क साधा जो भारत में आतंकी गतिविधियों के लिए सहयोग दे सकते थे। 2013 में वह पहले पाकिस्तान गया था और उसके बाद यूरोप गया।

नकली पासपोर्ट पर सफर करता पकड़ाया

2014 में जब उसे दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट से गिरफ्तार किया गया तब वह मलेशिया के नकली पासपोर्ट पर सफर कर रहा था। पासपोर्ट में उसका नाम गुरदीप सिंह था।

दक्षिण-पूर्व एशिया के देशों में फैला है हरमिंदर के नेटवर्क

आतंकी हरमिंदर सिंह मिंटू के बारे में बताया जाता है कि यूरोप ही नहीं, दक्षिण पूर्व एशिया के देश, कंबोडिया, लाओस, म्यानमार और थाइलैंड में उसने अच्छा-खासा जाल फैला रखा है। थाइलैंड से यह आतंकी अपने ऑपरेशन को अंजाम देता था।

Read Also: मन की बात: 'कैशलेस की जगह लेस कैश के लिए काम करें'

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Harminder Singh Mintoo was the member of dreaded militant organisation Babbar Khalsa. He is international terrorist and chief of Khalistan Liberation Force.
Please Wait while comments are loading...