सिनेमाहॉलों में राष्‍ट्रगान बजाए जाने को लेकर सोशल मीडिया पर क्‍या बोले लोग, जानिए?

देश भर के सिनेमाहॉलों में राष्‍ट्रगान बजाए जाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद सोशल मीडिया पर भी लोग इसे लागू करने के पक्ष और व‍िपक्ष में आ गए हैं।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्‍ली। देश भर के सिनेमाहॉलों में राष्‍ट्रगान बजाए जाने को लेकर सुप्रीम कोर्ट के निर्णय के बाद सोशल मीडिया पर भी लोग इसे लागू करने के पक्ष और व‍िपक्ष में आ गए हैं।  

national anthem in cinema hall

राष्‍ट्रगान को अनिवार्य किए जाने को लेकर कोई यह सवाल उठा रहा है कि राष्‍ट्रगान बंद कमरे में नहीं गाया जा सकता है। तो कोई कह रहा है कि सिर्फ 52 सेकेंड के लिए आप राष्‍ट्रगान नहीं गा सकते, पर तीन घंटे की फिल्‍म आराम से देख सकते हैं।

वहीं @JRoys_ ने लिखा कि अब मैं भी अपनी देशभक्ति सिनेमा हॉल में दिखाऊंगा और राष्‍ट्रगान गाऊंगा। पर क्‍या यह काफी है? हम सभी को अपने बेडरूम में भी इसे गाना चाहिए।

@90s_Belle ने लिखा कि सुप्रीम कोर्ट लंबित पड़े मामलों पर भी ध्‍यान दे तो अच्‍छा रहेगा।

@I_Atheist_ ने लिखा कि सिनेमाहॉलों में राष्‍ट्रगान बजाए जाने का फैसला बहुत सही है। अब सुप्रीम कोर्ट में भी इसे बजाया जाना चाहिए।

@alkesh_kushwaha ने लिखा कि पाश्चात्य संस्कृति में इतना भी मत उलझिए कि भारतीय संस्कृति को शर्मशार होना पड़े...

@arnov007 ने लिखा कि जेएनयू, जाधवपुर कैंपस, एनडीटीवी, इंडिया टुडे, एबीपी, इंडियन एक्‍सप्रेस के ऑफिस में भी राष्‍ट्रगान बजाए जाने की जरुरत है।

@anud252000 राष्‍ट्रगान को लेकर सभी का मत साफ होना चाहिए। पर सुप्रीम कोर्ट इस तरह के निर्णय दे रहा है, क्‍या ट्रेजिक है।

@gurusubbudir ने लिखा कि एटीएम के बाहर भी राष्‍ट्रगान बजाया जाना चाहिए।

@prvsomani ने लिखा कि सिर्फ राष्‍ट्रगान? क्रांतिवीर और बॉर्डर जैसी पूरी फिल्‍में ही क्‍यों नहीं दिखा देते?

@shobhitgupta921 ने लिखा कि इमरान हाशमी की फिल्‍मों से पहले राष्‍ट्रगान का बजना वैसा ही है जैसा सेक्‍स करने से पहले पवित्र किताबें पढ़ना।

@ShriramP_ ने कहा कि मैं पूरी तरह से इस बात पर सहमत हूं कि मूवी थियेटर अपनी देशभक्ति दिखाने की जगह नहीं हैं। और यही सही है।

@Wwwansarimalik ने लिखा कि सिर्फ 52 सेकेण्ड में आप किसी को देशभक्त नहीं बना सकते हैं। हम सम्मान करते हैं लेकिन इसे थोपा नहीं जाना चाहिए

@akshaymore ने लिखा कि क्‍या राष्‍ट्रगान गाने से देश में गरीबी, भ्रष्‍टाचार, कालेधन जैसे समस्‍या खत्‍म हो जाएगी। क्‍या एक राष्‍ट्रगान बजने से आप देशभक्‍त और ईमानदार हो जाएंगे।

@igneouznayan ने लिखा कि मुझे नहीं लगता कि सिनेमाहॉल में राष्‍ट्रगान बजाए जाने को लेकर किसी को कोई समस्‍या होगी। यह एक सम्‍मान की बात है। मैं उस समय का इंतजार कर रहा हूं जब यह राष्‍ट्रगान सिनेमा हॉल में बजेगा।

@MithGupta ने लिखा कि राष्‍ट्रगान बजने के दौरान उसको सम्‍मान देने में कोई गलत बात नहीं हैं। पर असल समस्‍या सुप्रीम कोर्ट का यह निर्णय है। फिल्‍में मनोरंजन के लिए होती हैं, देशभक्ति दिखाने के लिए नहीं।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
what people says about supreme court order on national anthem in cinema hall
Please Wait while comments are loading...