जानिए जयललिता, सोनिया और बाजपेयी सरकार का टी-कनेक्शन

कहा जाता है कि सोनिया गांधी के साथ एक कप चाय पीकर जयललिता ने गिरा दी थी बाजपेयी सरकार।

Subscribe to Oneindia Hindi

चेन्नई। आज तमिलनाडु की मुख्यमंत्री जयललिता ने दुनिया को अलविदा कह दिया है। 68 साल की इस कद्दावर नेता को रविवार शाम को दिल का दौरा पड़ा था और उसके बाद से वो सपोर्ट सिस्टम पर थीं।

तमिलनाडु: जयललिता के करीबी पनीरसेल्वम ने ली सीएम पद की शपथ

 What is the Connection Between Jayalalithaa, Sonia Gandhi,  Vajpayee and Tea Party

जयललिता की राजनीति से जुड़े ऐसे अहम किस्से हैं जिन्हें लोग शायद कभी नहीं भूलेंगे। ऐसा ही एक जिक्र है साल 1998 का, जब जयललिता ने कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की एक कप चाय पीकर 13 महीने की बाजपेयी सरकार को गिरा दिया था।

जयललिता: साउथ की पहली हिरोइन, जिन्होंने फिल्मों में पहनी स्कर्ट

राजनीति की बिसात पर अम्मा ऐसा कोई दांवे खेलने वाली हैं, ऐसी कल्पना भी किसी ने नहीं की थी, लेकिन उन्होंने चाल चली और वो सफल भी रहीं। जयललिता ने ये दांव चला था आजकल भाजपा के करीबी और उस वक्त कांग्रेस के करीबी रहे सुब्रमण्यम स्वामी के कहने पर।

जब विधानसभा में अपने अपमान का बदला लेने के लिए 'द्रोपदी' बनी थीं जयललिता

कहा जाता है कि अटल जी ने सुब्रमण्यम स्वामी से वादा किया था कि वो उन्हें सरकार बनने के बाद वित्तमंत्री बनाएंगे लेकिन सरकार बनने के बाद ऐसा हुआ नहीं जिसके बाद स्वामी ने दिल्ली के अशोक होटल में एक चाय पार्टी का आयोजन किया।

जिसमें जयललिता और सोनिया गांधी की मुलाकात हुई और उसके बाद अन्नाद्रमुक प्रमुख ने बाजपेयी सरकार से समर्थन वापस ले लिया था और 13 महीने की सरकार गिर गई थी।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Remember back in 1999, the sudden bonhomie between Swamy, Sonia Gandhi & Jayalalitha at a tea party hosted by Swamy. This was an attempt to bring down the Atal Bihari Vajpayee government.
Please Wait while comments are loading...