500-1000 रुपये के नोटों पर बैन से मोदी सरकार को ऐसे मिला बड़ा फायदा

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटों पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा के साथ यह भी बताया कि 72 घंटों तक पुराने नोट रेलवे स्टेशन और सरकारी अस्पताल जैसी जगहों पर लिए जाएंगे।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। टिकट बुकिंग में लंबी दूरी के लिहाज से वेस्टर्न रेलवे कमाई के नए आयाम पर पहुंच गया है। बुधवार को रोजाना के मुकाबले ऐसे टिकट पर 100 फीसदी बढ़त देखने को मिली। केंद्र सरकार की ओर से 500 और 1000 के नोटों पर पाबंदी लगाए जाने के बाद यह देखने को मिला है।

money

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने नोटों पर प्रतिबंध लगाने की घोषणा के साथ यह भी बताया कि 72 घंटों तक पुराने नोट रेलवे स्टेशन और सरकारी अस्पताल जैसी जगहों पर लिए जाएंगे। इस फैसले के बाद टिकटों की बिक्री में खासा इजाफा देखने को मिला। मंगलवार को जहां रेलवे ने सुबह आठ बजे से दोपहर 2 बजे के बीच कुल 85.99 लाख रुपये के टिकट बेचे थे, जबकि बुधवार को इसी समय में 1.79 करोड़ रुपय के टिकट बेचे गए।

पढ़ें: रेलवे ने नहीं माना मोदी सरकार का आदेश, टिकट बुकिंग को लेकर बड़ा फरमान

108 फीसदी की बढ़त देखने को मिली
नोट बैन किए जाने के फैसले से टिकटों की बिक्री में 108 फीसदी बढ़ोतरी देखने को मिली। ऑनलाइन टिकट बुकिंग में लगातार हो रही बढ़ोतरी के बीच टिकट काउंटर पर यह आंकड़े वाकई हैरान करने वाले रहे। आम तौर पर 55 फीसदी टिकट आईआरसीटीसी की वेबसाइट से बुक किए जाते हैं जबकि 45 फीसदी टिकट काउंटर से कैश देकर लिए जाते हैं।

तस्वीरों में देखें, नोट बदलने की अफरातफरी में क्या है बैंकों का हाल

...तो जा सकता है आपका पैसा
रेलवे के एक सीनियर अधिकारी ने कहा, 'यह कहना अभी मुश्किल है कि लोग 500 और 1000 के नोटों से मुक्ति पाने के लिए ही टिकट बुक करा रहे हैं। लेकिन अगर ऐसा है तो लोगों को टिकट बुक के लिए लाइन लगाने के बजाय बैंक में जाकर नोट बदल लेने चाहिए। क्योंकि सिर्फ नोट बदलने के लिए टिकट बुक करना और उसे कैंसिल करना उनको महंगा साबित हो सकता है और इसमें पैसे जाने का भी डर है।'

पढ़ें: नए नोट लेकर खिलखिलाए चेहरे, बैंकों और डाकघरों में लंबी लाइन

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Western Railway gets 100 percent surge on ticket booking after ban on 500 100 notes.
Please Wait while comments are loading...