BSF जवान तेज बहादुर यादव की पत्नी ने कहा, 'सीबीआई जांच के बिना सच सामने नहीं आएगा'

तेज बहादुर ने कहा था कि चंद अफसरों की वजह से उन्हें किस हाल में नौकरी करनी पड़ती है। उन्हें जो खाना मिलता है उसकी क्वालिटी बेहद खराब होती है।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। खराब खाने को लेकर सोशल मीडिया पर वीडियो डालकर शिकायत करने वाले बीएसएफ के जवान तेज बहादुर यादव की पत्नी ने इस मामले में सीबीआई जांच की मांग की है। उनकी पत्नी शर्मिला ने कहा, 'इस मामले में हम आंतरिक स्तर पर जांच नहीं कराना चाहते। इस मामले की सीबीआई जांच होनी चाहिए। जब तक इस मामले की सीबीआई जांच नहीं होगी, सच सामने नहीं आएगा।' उन्होंने कहा कि उनके पिता ने जो गलत हो रहा था, उसके खिलाफ ही आवाज उठाई है। इसमें उनके पति ने कुछ भी गलत नहीं किया है।

tej bahadur yadav wife BSF जवान तेज बहादुर यादव की पत्नी ने कहा, 'सीबीआई जांच के बिना सच सामने नहीं आएगा'

गौरतलब है कि बीएसएफ के जवान तेज बहादुर यादव ने सोशल मीडिया पर कुछ वीडियो पोस्ट किए थे। इन वीडियो के जरिए तेज बहादुर ने कहा कि उन्हें अच्छी क्वालिटी का खाना नहीं दिया जाता। उन्होंने बताया कि चंद अफसरों की वजह से उन्हें किस हाल में नौकरी करनी पड़ती है। उन्हें जो खाना मिलता है उसकी क्वालिटी बेहद खराब होती है। सीमा पर तैनाती के दौरान उन्हें न तो ठीक से खाना मिलता है और न ही आराम। तेज बहादुर ने कहा कि भारत सरकार की ओर से उन्हें सभी वस्तुएं भेजी जाती हैं लेकिन अफसर इस सामान को बेच देते हैं। उन्होंने केंद्र सरकार से मामले की जांच कराने की अपील की थी।

बीएसएफ ने जवान पर ही लगाए आरोप

इसके बाद गृह मंत्रालय ने इस मामले में जांच के आदेश दे दिए। तेज बहादुर के आरोपों पर बीएसएफ ने कहा कि जवान का अतीत मुश्किलों भरा रहा है। अपने करियर के शुरूआती दिनों से ही उसे रोजाना काउंसलिंग की जरूरत थी। BSF की ओर से जारी किए गए बयान में कहा गया कि वो हमेशा से नियमों का उल्लंघन करता रहा है। वो बिना अनुमति के अनुपस्थित रहता है। इसके अलावा वह बहुत पहले से शराब का सेवन और अपने वरिष्ठ अधिकारियों से दुर्व्यवहार करता रहा है। बीएसएफ ने कहा कि इन्हीं वजहों से इस शख्स ने एक ही विशेष अधिकारी की जिम्मेदारी के तहत हेडक्वार्टर में अपनी सेवाए दी हैं। ये भी पढ़ें- अर्धसैनिक बलों के सोशल मीडिया इस्तेमाल पर लगाई गई रोक

रोटी की मांग करना गलत तो नहीं: जवान की पत्नी

बीएसएफ अधिकारियों के इन आरोपों पर जवान तेज बहादुर की पत्नी ने अपने पति का बचाव किया। उनकी पत्नी शर्मिला ने कहा कि अगर उनके पति की मानसिक हालत सही नहीं थी तो फिर उन्हें बॉर्डर पर क्यों तैनात किया गया था? उनके हाथ में बंदूक क्यों दी गई? शर्मिला ने कहा कि रोटी की मांग करना गलत तो नहीं है। हमें न्याय मिलना चाहिए। उन्होंने कहा कि उनके पति ने जो किया वो सही किया, वही सच है। शर्मिला ने यह भी कहा कि फोन पर हुई बातचीत में उन्होंने बताया कि अधिकारी उन पर शिकायत वापस लेने का दबाव बना रहे हैं। उन्होंने यह भी कहा कि जांच के नाम पर सिर्फ दिखावा किया जा रहा है। ये भी पढ़ें- CISF के 'किलर' जवान को लेकर परिवार ने किया एक और बड़ा खुलासा

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
We don't want an internal inquiry, CBI must inquire. Truth will be out only then: Sharmila, wife of BSF Jawan Tej Bahadur.
Please Wait while comments are loading...