स्ट्राइक पर बोला भारत- सच सामने आ गया, कोई कितनी मुश्किल से छिपाएगा

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। भारतीय विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने कहा है कि हमने संयुक्त राष्ट्र की कमेटी को यह बता दिया है कि यदि मसूद अजहर को बतौर आतंकी प्रतिंबंधित नहीं किया जाता तो इससे गलत संदेश जाएगा।

vikas

स्वरूप ने सर्जिकल स्ट्राइक के सवाल पर कहा कि सरकार ने जनता के समक्ष जो भी रखा है वो राष्ट्रीय सुरक्षा से संबंधित, इस पर मैं और कुछ नहीं कह सकता।

पाक ने किया दावा- भारतीय टीवी चैनल ने चलाया एसपी का नकली इंटरव्यू

सच आ गया समाने

उन्होंने कहा कि सच सामने आ गया, अब यह मायने नहीं रखता कि कोई इसे कितनी मुश्किल से छिपाने की कोशिश करता है।

स्वरूप ने पाक पीएम नवाज शरीफ की ओर से आतंकी बुरहान वानी की तरफदारी करने पर कहा कि पाकिस्तान फिर से खुद में ही फंस चुका है।

बोली भाजपा- हताशा में बयान दे रहे हैं राहुल, दलाली से इनका है पुराना नाता

मसूद अजहर को प्रतिबंधित करने के प्रस्ताव पर वीटो लगाने वाले चीन को निशाने पर लेते हुए स्वरूप ने कहा कि 14 देश देश एक तरफ हैं और 1 देश दूसरी ओर, इसलिए यह रोक आगे बढ़ी है।

सरकार की प्राथमिकता है पड़ोसी की समृद्धि

पाकिस्तान को मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा दिए जाने के सवाल पर स्वरूप ने कहा कि सरकार की प्राथमिकता है कि पड़ोसी मुल्कों की समृद्धि हो लेकिन आतंकवाद स्वरूपी उत्पाद का निर्यात नहीं कर सकते।

अखिलेश यादव ने बीजेपी पर साधा निशाना, कहा- सर्जिकल क्या होता है?

उन्होंने कहा इस बात कि उम्मीद जताई जा रही है कि 1267 सैंक्शन रिजीम के तहत हमारे निवेदन के आधार पर मसूद अजहर को प्रतिबंधित किया जा सकेगा, जो सभी आतंकी समूहों को कड़ा संदेश भेजेगा कि अंतरराष्ट्रीय समुदाय किसी तरह से आतंकवाद पर चयनात्मक दृष्टिकोण को आगे बढ़ाने या बर्दाश्त नहीं करने देगा।

चीन की ओर से ब्रम्हपुत्र का पानी रोके जाने के मुद्दे पर स्वरूप ने कहा कि भारत इस मुद्दे को चीन के साथ उठाएगा।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
We convey to committee(UN) that its expected to proscribe Masood Azhar as a terrorist,it will send a dangerous message if fails to act:MEA
Please Wait while comments are loading...