पंजाब चुनाव: केजरीवाल के नाम संजय सिंह की चिट्ठी से कांग्रेस-AAP के बीच घमासान

Subscribe to Oneindia Hindi

चंडीगढ़। आम आदमी पार्टी (AAP) के पंजाब प्रभारी संजय सिंह की ओर से पार्टी के मुखिया अरविंद केजरीवाल को लिखे गए एक पत्र ने पंजाब की सियासत में हलचल मचा दी है। पत्र की वजह से आम आदमी पार्टी और कांग्रेस के बीच बयानबाजी की जंग छिड़ गई है। पत्र में केजरीवाल को सलाह दी गई है कि पंजाब में चुनाव प्रचार के लिए रैलियों में उनकी मौजूदगी को कम करना चाहिए क्योंकि जनता के बीच गलत मैसेज जा रहा है। कहा जा रहा है कि यह सुझाव पार्टी के एक आंतरिक सर्वे के बाद दिया गया है।

पंजाब चुनाव: केजरीवाल के नाम संजय सिंह की चिट्ठी से कांग्रेस-AAP के बीच घमासान

संजय सिंह पर टीम 'पीके' का पलटवार
उधर, AAP ने इस पत्र को फर्जी करार दिया है। संजय सिंह ने इसके लिए अपने पासपोर्ट का सिग्नेचर भी ट्विटर पर शेयर किया और कहा कि पत्र में जो सिग्नेचर है वह असली नहीं है। उन्होंने ट्वीट करके आरोप लगाया कि यह कांग्रेस के 'डर्टी ट्रिक्स डिपार्टमेंट' की रणनीति है जो प्रशांत किशोर की अगुवाई में किया जा रहा है। वहीं, प्रशांत किशोर की टीम ने AAP नेता पर पलटवार करते हुए कहा कि संजय सिंह ने जो पासपोर्ट दिखाया है वह भी फर्जी है क्योंकि उसमें सिर्फ एक साल की वैधता दिखाई गई है। READ ALSO; जानिए कितनी है गृहमंत्री राजनाथ सिंह के बेटे पंकज की संपत्ति

पत्र में किया गया है ये दावा
पत्र में संजय सिंह के हवाले से कहा गया है, 'जैसा कि आप जानते हैं कि हमारे आंतरिक सर्वे से इशारा मिला है कि पंजाब चुनाव हमारे पक्ष में नहीं जा रहा। स्थिति यह है कि कांग्रेस को 69 सीटें मिल रही हैं और 11 अन्य सीटों पर अपनी पकड़ बना रही है। अभी हम अकाली दल से आगे हैं लेकिन आने वाले दिनों में स्थिति बदल सकती है। इसे देखते हुए मेरा मानना है कि आपकी (केजरीवाल) की रैलियों को थोड़ा कम किया जाए और स्थानीय नेताओं को प्रचार के लिए आगे लाया जाए। इस तरह अगर हम चुनाव हार भी जाते हैं तो परिणाम की जिम्मेदारी से से आपको पूरी तरह दूर रहेंगे और 2019 के चुनाव के लिए यह बेहद जरूरी है।' READ ALSO: इस राज्य में 1 मार्च से नहीं मिलेगी कोक और पेप्सी

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
War between Congress and Aam Aadmi Party over a letter to arvind kejriwal by sanjay singh.
Please Wait while comments are loading...