'तिलक-तराजू और तलवार... का नारा देने वाली पार्टी हमें सलाह ना दे'

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। देश में बढ़ रही दलित हिंसा की घटनाओं और उनके लिए भारतीय जनता पार्टी व केंद्र सरकार को घेरे जाने पर केंद्रीय मंत्री वेंकैया नायडू ने गुरुवार को विरोधियों को निशाने पर लिया। वेंकैया ने सवालिया लहजे में कहा कि क्या दलितों के खिलाफ अत्याचार केवल नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने के बाद शुरू हुए हैं? 1947 के बाद देश में किस पार्टी ने सबसे ज्यादा शासन किया है?

venkaiah naidu

बहुजन समाज पार्टी की सुप्रीमो मायावती का नाम लिए बिना वेंकैया ने कहा कि 'तिलक-तराजू और तलवार, इनको मारो जूते चार' का नारा देने वाली पार्टी हमें सलाह ना दे। वेंकैया ने दलित हिंसा के मामले पर सरकार का बचाव किया।

गौरतलब है कि गुजरात के ऊना में मृत गाय की खाल निकालने पर दलित युवकों को गाड़ी से बांधकर बेरहमी से हुई सरेआम पिटाई को लेकर भाजपा निशाने पर है।

मायावती के अलावा अन्य विपक्षी दलों ने भी इस मामले को लेकर केंद्र की भाजपा सरकार पर हमला बोला था। गुजरात के बाद देश के कई हिस्सों में दलितों के साथ हिंसा की खबरें आने लगीं, जिन्हें लेकर भी विपक्षी दल सरकार को निशाने पर ले रहे थे।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
union minister venkaiah naidu targets opposition at dalit violence issue, defend nda government.
Please Wait while comments are loading...