चीन के खिलाफ भारत अमेरिका के बीच मालाबार एक्‍सरसाइज होगी अपग्रेड

वर्ष 1992 में अमेरिका और भारत की नौसेनाओं ने शुरू की थी मालाबार नेवी एक्‍सरसाइज। वर्ष 2002 में तत्‍कालीन अमेरिकी राष्‍ट्रपति जॉर्ज डब्‍लूय बुश ने 9/11 के बाद एक्‍सरसाइज को बहाल करने का दिया था आदेश।

By:
Subscribe to Oneindia Hindi

मुंबई। चीन को जवाब देने के लिए भारत और अमेरिका हर वर्ष होने वाली मालाबार नेवी एक्‍सरसाइज को अपग्रेड करने के बारे में सोच रहे हैं। वर्ष 2015 से जापान नियमित तौर पर इस एक्‍सरसाइज का एक हिस्‍सा है।

india-japan-us-navy-exercise-15-1465977276.jpg

हिंद महासागर मेंं बढ़ता चीन का दखल

भारत हिंद महासागर में चीनी पनडुब्बियों की मौजूदगी से परेशान है। पिछले दिनों चीन की छह पनडुब्बियों को हिंद महासागर पर इंडियन नेवी ने देखा है।

इंडियन नेवी के चीफ एडमिरल सुनील लांबा और अमेरिकी नेवी के यूएस सेवेन फ्लीट के कमांडर वाइस एडमिरल जोसेफ पी ओकॉयन ने बताया कि भारत, जापान और अमेरिका के बीच होने वाली इस एक्‍सरसाइज का 21वां एडीशन अगले वर्ष हिंद महासागर रीजन में होगा।

वर्ष 2017 में होनी है मालाबार ड्रिल

इंडियन नेवी मालाबार नेवी ड्रिल 2017 के दौरान लंबी दूरी की मिसाइल से लैस सर्विलांस एयक्राफ्ट पी-8Iपोसायडन को शामिल करेगी तो यूएस नेवी का पी-8A भी इस एक्‍सरसाइज का हिस्‍सा होगा। इंडियन और यूएस नेवी के यह एयरक्राफ्ट्स चीनी पनडुब्बियों के बारे में इंटेलीजेंस शेयर करेंगे।

आपको बता दें कि इंडियन नेवी का पी-8I अमेरिका की सबसे खतरनाक हारपून ब्‍लॉक-II से लैस हो चुका है। इसके अलावा इसमें एडवांस्‍ड रडार सिस्‍टस, एमके-54 लाइटवेट टारपिडो और रॉकेट भी मौजूद हैं।

दूसरे देशों को शामिल करना चाहता अमेरिका

अमेरिका इस एक्‍सरसाइज में दूसरे देशों जैसे ऑस्‍ट्रेलिया को भी शामिल करना चाहता है। अमेरिका एशिया-पैसेफिक रीजन में नियमित तौर पर वॉर एक्‍सरसाइज आयोजित करना चाहता है।

वर्ष 2007 में चीन ने बंगाल की खाड़ी में हुई इस एक्‍सरसाइज को लेकर विरोध दर्ज कराया था। उस समय इसमें जापान, ऑस्‍ट्रेलिया और सिंगापुर शामिल हुए थे।

जापान का रोल

यूपीए सरकार ने इस एक्‍सरसाइज को सिर्फ दा देशों तक ही सीमित रखा था। जापान को वर्ष 2009 और 2014 में उस समय शामिल किया गया जब यह एक्‍सारसाइज उत्‍तर-पश्चिम पैसेफिक रीजन में हुई थी।

वर्ष 2014 में जब एनडीए की सरकार आई तब जापान को नियमित साझीदार का दर्जा दिया गया। अक्‍टूबर 2015 में जब यह ड्रिल बंंगाल की खाड़ी और फिर जून मेंं वेस्‍टर्न पैसेफिक में आयोजित हुई जापान एक नियमित साझीदार के तौर पर शमिल हुआ।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
India and US are all set to further upgrade their annual naval drill Malabar Navy exercise with its third partner Japan.
Please Wait while comments are loading...