यूपी की बेटी का कमाल, अखबार बेचने से लेकर पूरा किया IIT का सफर

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। आज हम आपके सामने एक ऐसी लड़की की कहानी बताने जा रहे हैं जिसने अपनी मेहनत से खास मिसाल कायम की है। अखबार बेचने से लेकर इस लड़की ने आईआईटी का सफर पूरा किया। इसकी कहानी पढ़कर आप भी कहेंगे वाह...

shivagi

कानपुर की रहने वाली है शिवांगी

यूपी की इस बेटी का नाम है शिवांगी। जो कानपुर से 60 किमी. दूर देहा गांव की रहने वाली है। स्कूल के दिनों में वह अपने पिता के साथ मिलकर मैगजिन और समाचार पत्र बेचती थी। वह सरकारी स्कूल में पढ़ती थी और पढ़ाई से जब वक्त मिलता तो पिता के बुक स्टोर उनकी मदद करती।

कुत्ते का कमाल, जान पर खेल के बचाई CRPF जवानों की जान

एक दिन शिवांगी ने आनंद कुमार के सुपर 30 के बारे में पढ़ा, उसे पता चला कि आनंद कुमार एक शैक्षिक कार्यक्रम चला रहे हैं। जिसमें गरीब परिवारों से आने वाले बच्चों को इंजीनियरिंग की पढ़ाई की तैयारी कराई जाती है, जिससे वह आईआईटी में एंट्री करने में सफल हो सकें।

आनंद कुमार ने शिवांगी के बारे में अपने फेसबुक वॉल पर लिखा

शिवांगी ने इस कार्यक्रम में शामिल होने की तैयारी की और इसमें चुन ली गई। उन्होंने आईआईटी में जगह बनाई और अब नौकरी कर रही हैं। इतना ही नहीं अपना और अपने परिवार का पालन-पोषण कर रही हैं।

सांपों के मिलन का वायरल वीडियो, आप भी देखकर कहेंगे वाह

शिवांगी की कहानी को सुपर 30 के डायरेक्टर आनंद कुमार ने अपने फेसबुक वॉल पर बयां किया है। उन्होंने शिवांगी की दो तस्वीरें शेयर की। उन्होंने लिखा कि ये तस्वीर मेरी शिष्या शिवांगी की है।

उन्होंने बताया कि इनमें से एक तस्वीर तब की है जब शिवांगी सुपर 30 में पढ़ने के लिए आई थी। वहीं दूसरी तस्वीर अभी की है।

शिवांगी का हुआ था आईआईटी खड़गपुर में सेलेक्शन

आनंद कुमार ने फेसबुक वॉल पर लिखा कि शिवांगी काम के साथ-साथ पढ़ना नहीं भूलती थी। सुपर 30 में चुने जाने के बाद शिवांगी उनके परिवार के बेहद करीब आ गई थी।

टाटा ग्रुप मुख्यालय के बाहर सुरक्षाकर्मियों ने की पत्रकारों से मारपीट

आनंद कुमार ने बताया कि शिवांगी मेरे माता जी को दादी कह कर बुलाती थी और हम लोग उसे बच्ची कहा करते थे। जिस समय आईआईटी का रिजल्ट आया और वह आईआईटी रुड़की जाने की जाने की तैयारी कर रही थी। उसकी आंखों में आंसू थे और आनंद कुमार के परिवार की महिलाएं भी रो रही थी।

उन्होंने बताया कि आज भी शिवांगी मेरे घर के सभी सदस्यों से बात करती रहती है। अभी जैसे ही उसकी नौकरी लग जाने की खबर हम लोगों को मिली मेरे पूरे घर में खुशी की लहर सी दौड़ गई। देखिए आनंद कुमार का पूरा पोस्ट।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
A UP girl who completes long way from selling newspapers to graduating from IIT.
Please Wait while comments are loading...