मंत्रियों को लाल बत्ती नहीं दिए जाने को उमा भारती ने बताया गलत

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के बाद अधिकारियों से मुख्यमंत्री आदित्यनाथ योगी ने सोमवार सुबह शीर्ष प्रशासनिक अधिकारियों से मीटिंग की उसके बाद दोपहर में प्रदेश के सभी विभागों के सचिवों के साथ बैठक की। इस दौरान फैसला किया गया कि राज्य मंत्री लाल बत्ती का उपयोग नहीं करेंगे।

मंत्रियों को लाल बत्ती नहीं दिए जाने को उमा भारती ने बताया गलत

हालांकि भाजपा से ही केंद्रीय मंत्री उमा भारती ने इस फैसले को गलत बताया है। उमा ने कहा कि ' बिल्कुल गलत है क्योंकि इससे एक्सीडेंट बढ़ेंगे। उसका कारण है कि आगे और पीछे की स्कार्ट गाड़ियों में बत्ती होती है और बीच वाली गाड़ी में बत्ती नहीं होगी तो जरूर गाड़ी ठुक सकती है। '

उमा ने कहा कि अगर कोई मंत्री अपने ड्यूटी पर जा रहा है तो लाल बत्ती भी हो और ट्रैफिक भी रोका जाए। अगर हो सके तो 5-7 मिनट हवाई जहाज भी लेट हो सकता है क्योंकि अगर कोई मीटिंग पोसपोन हो गई तो करोड़ों का नुकसान हो जाएगा, अगर कोई प्रोजेक्ट मंजूर नहीं हुआ तो। कई फैसले 6 महीने के लिए रुक जाएगा। लेकिन अगर कोई मंत्री शादी पर जाए तो उस समय ना लाल बत्ती हो , ना ट्रैफिक रुके और ना हवाई जहाज में देरी हो। लेकिन अगर कोई मंत्री अपने कर्तव्यों का निर्वहन करने जा रहा है तो यह सारे प्रावधान बनने चाहिए।

इस दौरान उमा ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को भी आड़े हाथों लिया और कहा कि इन्होंने ट्रेंड जो सेट किया है वो गलत है।

इससे पहले पंजाब की कैप्टन सरकार में भी मंत्रियों के लाल बत्ती प्रयोग करने पर रोक लगा दी गई है।

यहां देखे वीडियो

ये भी पढ़े: यूपी की योगी सरकार का पहला दिन और 10 बड़े कदम

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Union Minister Uma Bharti reacts on no red beacons for Punjab, Uttar Pradesh Ministers.
Please Wait while comments are loading...