हरियाणा सेंट्रल यूनिवर्सिटी का सिलेबस बदला, अब पढ़ना होगा गोलवलकर और सावरकर को भी

Written By: Amit
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। हरियाणा सेंट्रल यूनिवर्सिटी से अगर आप राजनीति विज्ञान में एमए कर रहे हैं तो आपको गांधी, नेहरू, टैगोर, अंबेडकर और तिलक जैसे महान राजनीतिक चिंतकों के साथ-साथ सरसंघचालक गुरु गोलवलकर और विनायक दामोदर सावरकर को भी पढ़ना होगा। हरियाणा सेंट्रल यूनिवर्सिटी को अपने पाठ्यक्रम में बदलाव की मंजूरी मिल गई है।

HCU में एमए करने के लिए गोलवलकर और सावरकर को पढ़ना होगा

यूनिवर्सिटी का कहना है कि स्टूडेंट्स में 'नेशनलिज्म' की  भावना को भरने और उच्च नैतिक गुणों को समझाने के लिए पाठ्यक्रम में कुछ नए राजनीतिक चिंतकों को शामिल किया जा रहा है, जिसमें गोलवलकर और सावरकर भी शामिल है। इसके अलावा पीजी कॉर्सेज के लिए इस नये पाठ्यक्रम में स्वामी विवेदाकानंद, दयानंद सरस्वती, राम मनोहर लोहिया, जेपी नारायण और रविंद्रनाथ टैगोर जैसे विचारकों को जगह दी गई हैं।

यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर आरसी कुहाद ने इस निर्णय का स्वागत करते हुए कहा है कि सिलेबस में बदलाव एक नई शुरुआत है, जिससे स्टूडेंट्स को प्रख्यात विचारकों के बारे में जानने से राजनीति विज्ञान के विषयों के बारे में नई समझ पैदा होगी।

यूनिवर्सिटी ने स्टूडेंट्स को राष्ट्रवाद की भावना से ओतप्रोत करने के लिए संघ विचारक गोलवलकर और सावरकर को एमए सेकेंड और थर्ड ईयर में जगह दी है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
To increase nationalism feeling, MS Golwalkar & VD Savarkar to be part of Haryana Central university
Please Wait while comments are loading...