एक सिर के बदले पाकिस्तान के 10 नहीं कई सिर को उड़ा रही है सेना!

Written By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। भारत-पाक सीमा पर जिस तरह से पिछले कुछ दिनों में तनाव बढ़ा है और लगातार सीजफॉयर उल्लंघन की घटनाएं बढ़ी है उसने वादी के माहौल को काफी तनावग्रस्त कर दिया है। हाल ही में सेना के जवान उमर फयाज को आतंकियों ने मौत के घाट उतार दिया था। यही नहीं दो भारतीय जवानों के शव को भी पाकिस्तानी सेना ने क्षत-विक्षत कर दिया था। इन तमाम घटनाओं के बाद ना सिर्फ विपक्षी दल बल्कि देश के लोग भी मौदी सरकार पर सवाल खड़ा कर रहे हैं कि आखिर इन सबके बाद सरकार क्या कर रही है। इन तमाम मुद्दों पर केंद्रीय गृह राज्यमंत्री किरन रिजिजू ने बड़ा बयान दिया है।

इसे भी पढ़ें- सुकमा की तरह एक और बड़े हमले की फिराक में हैं नक्‍सली, खुफिया रिपोर्ट में हुआ खुलासा

हम मीडिया को नहीं बता सकते

हम मीडिया को नहीं बता सकते

एक टीवी कार्यक्रम में बोलते हुए रिजिजू ने कहा कि जब आप चुनाव की रैलियों में बोलते हैं और सरकार में होते हैं तो एक्शन लेने का तरीका बदल जाता है। उन्होंने कहा कि हम सीमा पर क्या कार्रवाई कर रहे हैं वह मीडिया को नहीं बता सकते हैं। जब उनसे पूछा गया कि चुनाव के वक्त नरेंद्र मोदी ने कहा था कि हम एक जवान के सिर के बदले 10 सिर काटकर लाएंगे, तो रिजिजू ने कहा कि हम जो भी कर रहे हैं उसे मीडिया के सामने आकर नहीं कह सकते हैं, आपको खुद यह समझना चाहिए। सीमा पर जितनी बार मैं गया हूं शायद ही इससे पहले कोई मंत्री गया हो।

आपको समझना चाहिए

आपको समझना चाहिए

गृहराज्यमंत्री ने कहा कि आप क्या चाहते हैं कि हम यह कहें कि हमने सीमा पर हमने उकसाया और उनके जवानों को मार गिराया। हम मीडिया में सिर्फ यह ही कह सकते हैं कि हम सीमापार से हो रही गोलाबारी का जवाब दे रहे हैं। जितने कठोर कदम हम उठा रहे हैं उतना कठोर कदम आज से पहले किसी सरकार ने नहीं उठाई है। उन्होंने कहा कि सरकार के अपने दायरे होते हैं, उसकी कूटनीति होती है, वह मीडिया में आकर यह नहीं कह सकती है कि हमने जवाबी कार्रवाई में क्या किया, यह आपको समझना चाहिए।

हम छाती ठोककर नहीं कह सकते हैं कि क्या किया

हम छाती ठोककर नहीं कह सकते हैं कि क्या किया

रिजिजू ने कहा हम मीडिया के सामने छाती ठोककर नहीं कहना चाहते हैं कि हमने क्या किया है, आपको खुद वहां जाकर देखना चाहिए। अगर मंत्री अपने मुंह से यह सब कहेगा तो यह सुनने में अच्छा नहीं लगेगा। मैं आम आदमी की भाषा में बात नहीं कर सकता हूं, कूटनीति में काफी नापतोलकर बोलना पड़ता है, दुनिया की मीडिया में आपके बयान को देखा जाता है, हम चुपचाप बैठे हैं ऐसा तो नहीं हो सकता है। उन्होंने कहा कि चीन, म्यामार, पाकिस्तान की सीमा पर जाकर देखिए क्या फर्क है आपको पता चल जाएगा

 सीमा पर हालात बदल गए हैं

सीमा पर हालात बदल गए हैं

लेकिन रिजिजू से यह पूछा गया कि पूर्व की सरकार भी यही बयान देती थी तो आप सरकार को घेरते थे, इसपर रिजिजू ने कहा कि बेहतर हो आप सीमा पर जाएं और वहां के कमांडर से बात करे, वह आपको खुद बताएंगे कि इस सरकार में जो कदम उठाए जा रहे है, वह इससे पहले नहीं उठाए गए हैं। यही नहीं अगर आप बॉर्डर के पास रहने वाले लोगों से बात करेंगे तो वह भी आपको बताएंगे कि इस सरकार के कार्यकाल में सेना के जवान किस तरह से जवाबी कार्रवाई करते हैं। कमांडर खुद आपको बताएंगे कि उन्हें कितनी आजादी दी गई है।

हमने घुसकर पाकिस्तान के आतंकियों को मारा

हमने घुसकर पाकिस्तान के आतंकियों को मारा

वहीं इस मुद्दे पर पीएमओ के राज्यमंत्री जीतेंद्र कुमार ने कहा कि सीमा पर रहने वाले यह कहते है कि पहले इतनी निर्णायक कार्रवाई नहीं होती थी जितनी इस सरकार में हो रही है। केंद्रीय मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी ने कहा कि इस सरकार की जो सबसे बड़ी उपबल्धि है वह यह कि पाकिस्तान आतंकवाद को सबसे ज्यादा संरक्षण दे रहा है, आज स्थिति यह है कि हिंदुस्तान यह बताने में दुनिया में सफल हुआ है कि पाकिस्तान आतंकवादियों की सबसे सुरक्षित शरणगाह बनी है। हमने पाकिस्तान की सीमा में घुसकर आतंकियों को मारा और कोई भी देश पाकिस्तान के साथ नहीं खड़ा हुआ।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Things have changed on the Pakistan border army is doing its best. Modi Minister says we cant say everything to the media.
Please Wait while comments are loading...