लाहौर से होने वाले हमले को फेल करेगा मिसाइल सिस्‍टम एस-400

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

डाबोलिम सिटी। 39,000 करोड़ रुपए की लागत के साथ भारत, रूस से एस-400 एयर मिसाइल डिफेंस सिस्‍टम खरीदने को तैयार है। भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और रूस के राष्‍ट्रपति ब्‍लादीमिर पुतिन की मुलाकात के बाद इस बात की पुष्टि हो गई है।

पढ़ें-बंद कमरे में हुई पीएम मोदी और राष्‍ट्रपति पुतिन की मीटिंग

आपको बता दें कि यह मिसाइल डिफेंस सिस्‍टम दुनिया का सबसे खतरनाक मिसाइल सिस्‍टम माना जाता है। भारत और पाकिस्‍तान के बीच बढ़े तनाव में इस खरीद को एक बड़ा कदम माना जा रहा है।

पिछले वर्ष खबरें आई थीं कि जब टर्की ने रूस के फाइटर जेट को मार गिराया था तो रूस ने सीरिया बॉर्डर पर अपनी सबसे ताकतवर मिसाइल एस-400 को तैनात करने का ऐलान किया है।

पढ़ें-जिनपिंग को पाक पर कड़ा संदेश देने के मूड में पीएम मोदी!

हालांकि रूस ने बाद में इन खबरों से इंकार कर दिया था। आइए आज आपको इस खतरनाक मिसाइल डिफेंस सिस्‍टम के बारे में बताते हैं। इस मिसाइल को ट्रिम्‍फ के नाम से भी जानते हैं।

पढ़ें-क्‍या है ब्रिक्‍स सम्‍मेलन जिसका मेजबान इस बार बना है भारत

400 किमी की दूरी से आने वाले किसी भी टारगेट को यह सिस्‍टम पल भर में चित्‍त कर सकता है। आपको बता दें कि दिल्‍ली से लाहौर की दूरी 400 किलोमीटर से कुछ ही ज्‍यादा यानी 412 किलोमीटर है।

400 मीटर के टारगेट को गिराने में सक्षम

400 मीटर के टारगेट को गिराने में सक्षम

एंटी बैलिस्टिक मिसाइल सिस्टम एस-400 खरीदने के बाद भारत, चीन या पाकिस्तान की ओर से किसी मिसाइल हमले की स्थिति में मुंहतोड़ जवाब दे सकेगा। इस रक्षा प्रणाली से 400 किलोमीटर की रेंज में किसी भी टारगेट को आसानी से मार गिराया जा सकता है।

रडार की पकड़ से भी बाहर

रडार की पकड़ से भी बाहर

रडार की पकड़ से दूर यह रडार की पकड़ न आने वाली अमेरिकन एफ-35 फाइटर जेट को भी मार गिरा सकता है। रूस की एस-400 रक्षा प्रणाली में अलग-अलग क्षमता की तीन तरह की मिसाइलें मौजूद हैं। यह मिसाइल सिस्‍टम सीरिया बॉर्डर पर तैनात है।

चीन ने की है डील

चीन ने की है डील

तीन अरब डॉलर की डील चीन ने भी यही मिसाइल सिस्टम खरीदने के लिए रूस के साथ एक साल पहले तीन अरब डॉलर की डील की थी। इस मिसाइल सिस्‍टम को रूस की अल्‍माज सेंट्रल डिजाइन ब्‍यूरों की ओर से वर्ष 1990 से डेवलप किया जा रहा है।

72 लॉन्‍चर्स को कर सकती है नियंत्रित

72 लॉन्‍चर्स को कर सकती है नियंत्रित

एक मिसाइल सिस्‍टम को अगर आठ बटालियन में तैनात किया जाए तो सिर्फ एक सिस्‍टम 72 लॉन्‍चर्स को कंट्रोल कर सकता है। सिर्फ इतना ही नहीं यह सिस्‍टम एक साथ ज्‍यादा से ज्‍यादा 384 मिसाइलों को भी हैंडल करने में सक्षम है। यह एयर मिसाइल डिफेंस सिस्‍टम बैलेस्टिक मिसाइल और हाइपर सोनिक टारगेट्स को भी सेकेंड्स में गिरा सकता है।

तीन तरह की मिसाइलें लॉन्‍च करने की ताकत

तीन तरह की मिसाइलें लॉन्‍च करने की ताकत

एस-400 मिसाइल सिस्‍टम में तीन तरह की मिसाइलें लॉन्‍च करने की ताकत है। यह रूस के पास मौजूद सबसे आधुनिक और सबसे एडवांस्‍ड मिसाइल एयर डिफेंस सिस्‍टम है। यह मिसाइल अपने पिछले वर्जन एस-300 से 2.5 गुना ज्‍यादा तेज है।

देश-दुनिया की तबरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
All about the most lethal missile defence S-400 India buying from Russia.
Please Wait while comments are loading...