सितंबर 2019 से स्विटजरलैंड देगा कालेधन की जानकारी

स्विटजरलैंड से हुए इस नए समझौते में मौजूदा काले धन की जानकारी नहीं मिलेगी।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। स्विटजरलैंड ने अपने देश में भारतीयों के बैंक खातों के बारे में सितंबर 2018 से जानकारी देने की व्यवस्था पर अपनी हां कर दी है।

भारत और स्विटजरलैंड के मध्य इस व्यवस्था की शुरूआत करने की संयुक्त घोषणा पर हस्ताक्षर किए गए।

हालांकि इस समझौते के तहत सितंबर 2018 से पहले की जानकारियों के लिए स्वतः आदान प्रदान का प्रावधान नहीं है।

नए नोट के चक्कर में ओबीसी बैंक में बड़ी सेंधमारी, 1.2 करोड़ ले गए चोर

black money

बताया गया कि सितंबर 2018 और उसके बाद से वहां के बैंकों में भारतीयों के खातों के बारे में पहली सूचना सितंबर 2019 में मिलेगी।

2019 से मिलनी शुरू होगी जानकारी

जिसके अंतर्गत दोनों मुल्क सितंबर 2018 से वैश्विक मानकों के अनुरूप बैंकिंग आंकड़ों को इकट्ठा करना शुरू करेंगे। इसके बाद 2019 से सूचनाओं का स्वत: अदान-प्रदान होना शुरू हो जाएगा।

नेपाल नहीं करेगा 500 और 2,000 के नए नोट को एक्सचेंज

घोषणा पत्र पर हस्ताक्षर के दौरान जहां भारत ने भारत ने आंकड़ों की गोपनीयता बनाये रखने का वादा किया है वहीं स्विट्जरलैंड ने सूचना के स्वत: आदान-प्रदान से जुड़े वैश्विक मानकों की पुष्टि की है।

इस संबंध में भारतीय वित्त मंत्रालय ने एक बयान में कहा है कि अब स्विट्जरलैंड में भारतीयों के खातों के बारे में सितंबर 2018 और उसके बाद की अवधि की वित्तीय सूचनाओं का 2019 से नई व्यवस्था के तहत प्राप्त करना संभव होगा।

नोटबंदी से गरीबों को हो रही परेशानी, रतन टाटा ने जताई चिंता

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Switzerland to Share Information on Indians Holding Swiss Bank Accounts
Please Wait while comments are loading...