हॉस्पिटल से भी सुषमा स्वराज ने की ट्विटर के जरिए महिला की बड़ी मदद

जापान में फंसे पति की लाश को लाने की समस्या से जूझ रही पत्नी की सुषमा स्वराज ने हॉस्पिटल में रहते हुए बड़ी मदद की है।

Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज हॉस्पिटल में रहने के बावजूद ट्विटर पर एक्टिव होकर लोगों की मदद करती रहीं। रविवार को सुषमा ने दिल्ली की एक महिला की बड़ी मदद की।

महिला के पति की लाश जापान में है और उसे वहां से भारत लाने के लिए उनके पास पर्याप्त पैसे नहीं हैं। सुषमा ने उनके पति की बॉडी को वापस भारत लाने के लिए सार खर्चा वहन करने का आश्वासन दिया है।

Read Also:ट्विटर पर एक्टिव रहने वाली सुषमा को 'ग्लोबल थिंकर्स' लिस्ट में मिली जगह

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष ने सुषमा तक बात पहुंचाई

दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष ने सुषमा तक बात पहुंचाई

दिल्ली के रहनेवाले 48 साल के गोपाल राम 2015 के सितंबर में नौकरी के लिए जापान गए थे। वह दिल्ली में कुक का काम करते थे। 10 दिसंबर को जापान में हार्ट अटैक से उनकी मौत हो गई। उनकी बॉडी को भारत कैसे लाया जाए, इससे जूझ रहीं पत्नी ने दिल्ली महिला आयोग से संपर्क किया।

महिला की मदद के लिए दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने पत्र लिखकर विदेश मंत्री सुषमा स्वराज से आग्रह किया। सुषमा ने तुरंत इस पर कार्रवाई करते हुए महिला के पति के बॉडी को जापान से लाने का सारा खर्च वहन करने की सूचना ट्विटर पर दी।

जापान में गोपाल को नहीं मिलती थी समय पर सैलरी

जापान में गोपाल को नहीं मिलती थी समय पर सैलरी

गोपाल राम के परिवार में उनकी पत्नी और 25 साल से कम उम्र के तीन बच्चे हैं। वह दिल्ली में रहकर परिवार के लिए खर्चा नहीं जुटा पा रहे थे।

उनकी पत्नी ने बताया कि हौज खास में किसी ने गोपाल से ढाई लाख रुपए लेकर जापान में नौकरी दिलाने का वादा किया। गोपाल जब जापान गए तो उनको वहां कई महीनों तक सैलरी नहीं मिलती थी। वह घर पैसे नहीं भेज पा रहे थे।

उनकी पत्नी ने कहा कि घर का खर्चा चलाने के लिए मकान को गिरवी रखना पड़ा।

मौत के बाद जापान में फंसी गोपाल की बॉडी

मौत के बाद जापान में फंसी गोपाल की बॉडी

फोटो साभार - हिंदुस्तान टाइम्स

गोपाल की पत्नी ने कहा कि वह अपने पति को आखिरी बार देखना चाहती हैं। गोपाल के बेटे ने कहा कि जापान में भारतीय दूतावास ने बॉडी को क्लेम करने के लिए दस्तावजे मांगे हैं और इनकम सर्टिफिकेट देने को कहा है।

गोपाल के बेटे ने कहा, 'हम किसी को जापान में नहीं जानते और फिर इनकम टैक्स सर्टिफिकेट बनवाने में लंबा समय लग जाएगा क्योंकि मैं अधिकारियों से मिला तो उन्होंने किसी न किसी बहाने टाल दिया।'

सुषमा ने की पैसों की कमी से जूझते परिवार की मदद

सुषमा ने की पैसों की कमी से जूझते परिवार की मदद

सुषमा स्वराज को लिखे पत्र में दिल्ली महिला आयोग की अध्यक्ष स्वाति मालीवाल ने कहा कि परिवार के पास दाह-संस्कार करने तक के पैसे नहीं है, इसमें भी उनकी मदद की जाए।

गोपाल की पत्नी ने कहा, ' मेरे महीने की आमदनी तीन हजार रुपए रह गई है। वह भी एक कमरा किराए पर लगा है, उससे आता है। क्या इतने पैसों में तीन बच्चों के परिवार को चलाया जा सकता है? फिर मैं जापान से उनका शव लाने के लिए लाखों रुपए कहां से लाऊंगी?'

विदेश मंत्री सुषमा स्वराज की मदद से महिला को राहत की सांस मिली है।

Read Also:इलाज के लिए भारत आना चाहती है 500 Kg की ये महिला, ये आ रही बड़ी समस्या

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
MEA Sushma Swaraj helped a woman while being in hospital via social media Twitter. Sushma Swaraj assured woman that her husband's body will be brought back from Japan on Govt expenses.
Please Wait while comments are loading...