नोटबंदी पर बोले चीफ जस्टिस- मामला बेहद गंभीर, अब तक आईं 13 याचिकाएं

Posted By:
Subscribe to Oneindia Hindi

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की ओर से नोटंबदी की घोषणा किए जाने के बाद से अब तक देश की अलग-अलग अदालतों में इसके खिलाफ याचिका दी जा चुकी है। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को अपने आदेश में कहा है कि सभी याचिकाओं पर सुनवाई 2 दिसंबर को होगी।

ts thakur

सुप्रीम कोर्ट ने कहा इन याचिकाओं में केंद्र सरकार की वह याचिका भी शामिल है जिसमें सभी मामलों को सुप्रीम कोर्ट में ट्रांसफर करने की अपील की गई है।

चीफ जस्टिस ने कहा- देखेंगे मामला
चीफ जस्टिस टीएस ठाकुर ने मामले की सुनवाई करते हुए कहा कि गंभीर विषय है। उन्होंने कहा, 'देखते हैं, हम क्या कर सकते हैं। यह एक गंभीर मुद्दा है।' इस मामले में सुप्रीम कोर्ट और अलग-अलग हाईकोर्ट में कुल 13 जनहित याचिकाएं आ चुकी हैं।

पढ़ें: लोकसभा में एक युवक ने की छलांग लगाने की कोशिश, सुरक्षाबलों ने दबोचा

'भुखमरी का शिकार हो रहे हैं लोग'
एक याचिकाकर्ता की ओर से पेश हुए कांग्रेस नेता और वरिष्ठ वकील कपिल सिब्बल ने कोर्ट से कहा कि फैसले का लोगों पर गंभीर असर पड़ा है। लोग सब कुछ छोड़कर बैंकों के बाहर लाइन पर खड़े हैं और पैसों की कमी की वजह से भुखमरी के कगार पर पहुंच गए हैं।

पढ़ें: कलियुगी बाप ने 2 साल तक किया बेटी से रेप, टॉर्चर से कई बार हुई बेहोश

अटॉर्नी जनरल मुकुल रोहतगी ने बताया कि उन्होंने नोटबंदी के मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट में सरकार की ओर से एक हलफनामा दायर किया है।

देश-दुनिया की ताज़ा ख़बरों से अपडेट रहने के लिए Oneindia Hindi के फेसबुक पेज को लाइक करें
English summary
Supreme court to hear all petitions related to demonetisation on December 2.
Please Wait while comments are loading...